यूपी में खोया जनाधार तलाशने में जुटी कांग्रेस, किसान महापंचायत में मोदी सरकार पर बरसीं प्रियंका

51
priynka gandhi

मुजफ्फरनगर। केंद्र सरकार द्वारा जारी तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ करीब तीन महीने से दिल्ली बॉडर्स पर चल रहा किसान आंदोलन अब देशव्यापी हो गया है। वहीं कांग्रेस भी इसी किसान आंदोलन की बदौलत उत्तर प्रदेश में अपनी खोई हुई जमीन वापस पाने की जोर आजमाइश में जुट गयी है। सहारनपुर और बिजनौर में किसान महापंचायत में शिरकत करने के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने आज मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत को संबोधित किया।

इसे भी पढ़ें:-महिला सुरक्षा को लेकर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कह दी ये बड़ी बात

बता दें कि किसान महापंचायतों के जरिये कांग्रेस किसान आंदोलन के समर्थन में प्रदेश में जनमत जुटाने में जुटी है और इसी की बदौलत वह अपना खोया हुआ जनाधार भी वापस पाने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस कृषि कानून के विरोध में उत्तर प्रदेश के 27 जिलों में जय जवान, जय किसान’ अभियान चला रही है। इसी अभियान के तहत जिलों में किसान महापंचायतों का आयोजन किया जा रहा है। माना जा रहा है कि कांग्रेस इसके जरिए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियों में भी जुटी हुई है। आज मुजफ्फरपुर में आयोजित किसान महापंचायत को संबोधित करने पहुंची प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा।

कोई भी वादा नहीं किया पूरा

उन्होंने कहा मोदी सरकार ने दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों का अपमान किया है। उन्हें परजीवी कहा, जिन किसानों के बच्चे सीमा पर देश की सुरक्षा कर रहे हैं, उन्ही किसानों को आतंकवादी का नाम दिया जा रहा है,देश द्रोही कहा जा रहा है। प्रियंका गांधी ने कहा जब किसान नेता राकेश टिकैत रो रहे थे, तब हमारे देश के प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी मुस्करा रहे थे। कांग्रेस महासचिव ने कहा चुनाव से पहले मोदी ने किसानों का बकाया गन्ना भुगतान का वादा किया था, जो अभी तक पूरा नहीं हुआ। उन्होंने कहा पीएम ने किसानों की आमदनी दोगुनी का भी वादा किया था, वह भी पूरा नहीं हुआ।

आसमान छू रही है महंगाई

किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए उन्होंने वहां मौजूद किसानों से पूछा क्या गन्ने का दाम 2017 से बढ़ा है? आप सब गन्ना किसान हैं। सरकार ने क्या गन्ने का दाम बढ़ाए।  आपका बकाया कितना है? प्रियंका गांधी ने कहा मोदी एक अहकारी राजा है और वह उसी तरह से बर्ताव कर रहे हैं। उन्होंने कहा किसानों का बकाया गन्ने का भुगतान भले ही न हुआ हो लेकिन उद्योगपतियों की न तेल और बिजली की कीमत आसमान छू रही है, जिससे आम जनता पूरी तरह से त्रस्त हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें:-प्रियंका गांधी से मिले डॉ. कफील खान, सियासी हलकों में बढ़ी हलचल