CM योगी ने ओवैसी के इस चैलेंज को किया स्वीकार, 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर किया बड़ा दावा

0
56

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी ने जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में रिकॉर्ड जीत दर्ज की है। बंपर जीत से बीजेपी काफी उत्साहित है, जिसके बाद वो विधानसभा चुनाव में भी जीत दर्ज करने का दावा कर रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने दावा किया है कि प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी ही जीत दर्ज करेगी तो सरकार बनाएगी। वहीं उन्होंने एआईएमआईएम सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) के उसे चैलेंज को भी स्वीकार कर लिया है, जिसमे ओवैसी ने कहा था कि वो 2022 में योगी आदित्यनाथ को दोबारा सीएम बनने नहीं देंगे।

इसे भी पढ़ें: फ्रांस में राफेल डील की जांच शुरू, कांग्रेस ने बीजेपी पर साधा निशाना, की ये मांग

सीएम योगी ने कहा कि ‘देश के एक बड़े नेता हैं असदुद्दीन ओवैसी, उन्होंने अगर बीजेपी को विधानसभा चुनाव के लिए चुनौती दी है तो बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने उनकी चुनौती स्वीकार कर लिया है। इसमें किसी भी तरह का शक नहीं है कि उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले चुनाव में जीत दर्ज करके बीजेपी ही सरकार बनाएगी।’

आगामी चुनाव को देखते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर ऐलान किया था उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश में 100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखत था कि ‘उ.प्र. चुनाव को लेकर मैं कुछ बातें आपके सामने रख देना चाहता हूँ। हमने फैसला लिया है कि हम 100 सीटों पर अपना उम्मीदवार खड़ा करेंगे। पार्टी ने उम्मीदवारों को चुनने का प्रक्रिया शुरू कर दी है और हमने उम्मीदवार आवेदन पत्र भी जारी कर दिया है। हम ओम प्रकाश राजभर साहब ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ के साथ हैं। हमारी और किसी पार्टी से चुनाव या गठबंधन के सिलसिले में कोई बात नहीं हुई है।’

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में हुए जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में बीजेपी रिकॉर्ड जीत दर्ज की है। सूबे की 75 सीटों में से 65 सीटों पर बीजेपी को जीत मिली है। वहीं दो सीटों पर बीजेपी समर्थित उम्मीदवार जीते हैं। वहीं समाजवादी पार्टी सिर्फ पांच सीटों पर ही जीत दर्ज कर पाई है। जबकि को तीन सीटें मिली हैं। बुंदेलखंड की सभी सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की है।

इसे भी पढ़ें: UP: जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में खिला कमल, अयोध्या में पहली बार बीजेपी ने दर्ज की जीत, सपा का हुआ सफाया