असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए सीएम ने खोला खजाना, अब दुर्घटना होने पर मिलेगा दो लाख तक का बीमा

106
cm yogi aditynath

लखनऊ। श्रमिकों को सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा मुहैया कराने के उपाय सुझाने के लिए वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना की अध्यक्षता में गठित समिति की सिफारिश के बाद अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा कवच मुहैया करने की प्लानिंग की है। यह बीमा रुपी कवच दुर्घटना या कोई अनहोनी होने पर श्रमिकों और उनके आश्रितों की सुरक्षा करेगा। इसके लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अगले वित्तीय वर्ष के बजट में मुख्यमंत्री दुर्घटना बीमा योजना का एलान कर सकती है।

इसे भी पढ़ें:-जल्द होगा योगी सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार, जानें किसकी हो सकती है छुट्टी

योगी सरकार ने मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के माध्यम से असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को स्वास्थ्य सुरक्षा भी मुहैया कराने की तैयारी की है। यूपी सरकार की मंशा प्रदेश के एक करोड़ श्रमिकों को इस योजना के दायरे में लाने की है। सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए लायी जाने वाली इस योजना के तहत पंजीकृत श्रमिक की दुर्घटना में मृत्यु, पूर्ण दिव्यांगता, दोनों हाथ, दोनों पैर, दोनों आंखों या एक हाथ व एक पैर की क्षति होने पर दो लाख की आर्थिक मदद दी जाएगी। जबकि एक हाथ, एक पैर , एक आंख की क्षति, या फिर 50 प्रतिशत से अधिक स्थायी दिव्यांगता पर एक लाख रुपये की बीमा राशि प्रदान की जाएगी। वहीं 25 से 50 प्रतिशत के बीच स्थायी दिव्यांगता पर 50 हजार रुपये की मदद दी जाएगी। इसके लिए श्रमिकों को बीमा कंपनी को प्रतिवर्ष 12 रुपये प्रति श्रमिक की दर से प्रीमियम देना होगा।

सीएम के निर्देश पर गठित हुई थी समिति

गौरतलब है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने गत 16 जून 2020 को उप्र कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोग की बैठक की अध्यक्षता की थी। इस दौरान उन्होंने श्रमिकों को सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा मुहैया कराने के उपाय सुझाने को लेकर वित्त मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में एक समिति गठित करने का निर्देश दिया था।

इसे भी पढ़ें:-यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर हुआ ये बड़ा ऐलान, अब सीएम योगी ने दिए ये बड़े संकेत