Saturday, October 16, 2021

कटघरे में UP पुलिस, ई-रिक्शा चालक की पीट-पीटकर कर हत्या का लगा आरोप

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में एक ई-रिक्शा चालक को पीट-पीटकर मारा डाला गया। हत्या का आरोप यूपी पुलिस के दो जवानों पर लगा है। इसके बाद आरोपी पुलिसकर्मियों निलंबित कर दिया गया है। घटना जिले के थाना छतारी के गांव चोड़ेरा की है। जहां एक ई-रिक्शा चालक की बेरहमी काफी बेरहमी के साथ पीटा गया। गंभीर रूप से घायल चालक को अलीगढ़ जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई। मृतक के परिजनों का आरोप है कि थाना छतारी के इलाके में मौजूद पुलिस चौकी पंडावल पर तैनात पुलिसकर्मियों ने ई-रिक्शा चालक को काफी पीटा था, जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें : लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद डैमेज कंट्रोल में जुटी BJP, स्वतंत्र देव सिंह पहुंचे दिल्ली, ‘टेनी’ की छुट्टी तय!

युवक की मौत की खबर जैसे ही ग्रामीणों को हुई तो आक्रोशित लोगों सड़क जाम कर दी। गांव में इलाके में बढ़ते हुए तनाव को देखते हुए मौके पर तुरंत स्थानीय विधायक अनीता लोधी एवं डीएम और एसएसपी पहुंचे, जिन्होंने पीड़ित परिवार वालों से बात की और जाम को खुलवाया। दरोगा और सिपाही के खिलाफ मिली शिकायत पर एसएसपी संतोष कुमार सिंह तुरंत कार्रवाई करते हुए दोनों को निलंबित कर दिया। वहीं विभागीय जांच के भी आदेश दे दिए हैं। अधिकारियों ने मृतक युवक के परिजनों को आश्वासन दिया है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होगी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद उसे परिजनों के सौंप दिया है।

गौरतलब है कि इससे पहले यूपी पुलिस का क्रूर चेहरा गोरखपुर में भी देखने को मिल चुकाहै। जहां 27 सितंबर की रात रामगढ़ताल थाना क्षेत्र के कृष्णा पैलेस होटल में कानपुर के रहने वाले 36 साल के रियल एस्टेट कारोबारी मनीष गुप्ता अपने दो दोस्तों प्रदीप और हरी चैहान के साथ ठहरे थे। देर रात होटल में जांच के लिए पुलिस पहुंची थी। तीनों ने पुलिस को अपना पहचान पत्र दिखाया। इसके बाद पुलिस ने बर्बरता से मनीष को पीटना शुरू कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।मृतक की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उसके सिर, चेहरे, हाथ में गहरे चोट मिले हैं।

इसे भी पढ़ें : योगी सरकार के कोरोना प्रबंधन मॉडल की IIT Kanpur ने की तारीफ, जारी की स्टडी रिपोर्ट

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -