बड़ा फर्जीवाड़ा: प्रिंटिंग प्रेस पर एसटीएफ ने मारा छापा, करोड़ों की NCERT बुक बरामद, दर्जनों गिरफ्तार

131

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में उस समय हड़कंप मच जब मेरठ पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त टीम की छापेमारी में 35 करोड़ रुपये की एनसीईआरटी की पर्जी किताबें बरमद हुई। एनसीआरटी की ये सारी किताबें एक प्रिंटिंग प्रेस से बरामद की गई हैं। प्रिंटिंग प्रेस में ये सारी किताबें अवैध रूप छापी जा रही थीं। पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त कार्रवाई के दौरान 6 प्रिटिंग मशीनें भी जब्त की गई हैं। मिली जानकारी के मुताबिक मेरठ से इन किताबों की सप्लाई कई दूसरे राज्यों में की जाती थी, इन राज्यों में उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, मध्य प्रदेश, राजस्थान शामिल हैं। इसके साथ साथ उत्तर प्रदेश के भी कई जनपद शामिल हैं, जहां ये किताबें भेजी जा रही थीं। मेरठ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी के मुताबिक सुशांत सिटी के रहने वाले सचिन गुप्ता का परतापुर थाना क्षेत्र में गगोल रोड पर किताबों का गोदाम है। जहां पर अवैध तरीके से एनसीईआरटी की किताबों की छपाई की जाती थी और कई राज्यों में इनकी आपूर्ति की जाती थी।

यह भी पढ़ें:-भाजपा विधायक देवमणि द्विवेदी ने वायरल पत्र को बताया फर्जी, दर्ज कराया एफआईआर

एसएसपी साहनी ने बताया कि एक सूचना के आधार पर एसटीएफ और पुलिस टीम ने संयुक्त रूप से छापेमारी की। इस दौरान मौके से एक दर्जन लोगों को गिरप्तार किया गया और साथ ही गोदाम को सील कर मौके से लगभग 35 करोड़ रुपये की एनसीईआरटी की किताबें बरामद की गई हैं।’ आपको बता दें कि एनसीईआरटी की ये किताबें मेरठ में बड़े पैमाने पर छापी जा रही थीं। जब ये किताबें आर्मी स्कूल तक पहुंची तो गुपचुप तरीके से इसकी जांच आर्मी ने अपने स्तर से कराई। आर्मी इंटेलिजेंस इस पूरे प्रकरण की तह तक पहुंच गई। चूंकि मामला सिविल पुलिस का था इसलिए इस पूरे फर्जीवाड़े की जानकारी एसटीएफ को दी गई। एसटीएफ ने किताबों का फर्जीवाड़ा पकड़ने के लिए जाल बिछाया और शुक्रवार को मेरठ पुलिस के सहयोग से प्रिटिंग प्रेस में छापा मारकर बड़े पैमाने पर एनसीईआरटी की किताबें बरामद कीं।

यह भी पढ़ें:-ISIS का अब्दुल युसुफ गिरफ्तार, IED बम से पुलवामा की तरह उड़ाने वाला था दिल्ली

खबरों के मुताबिक छापेमारी के दौरान प्रिटिंग प्रेस में काम चल रहा था और सारी प्रिंटिंग मशीनें चालू थीं। छापे के वक्त किताबों की छपाई और उनकी बाइंडिंग का काम किया जा रहा था। एसटीएफ ने प्रिटिंग प्रेस में काम कर रहे एक दर्जन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया, जिनमें महिलाएं भी है शामिल हैं। हालांकि, इन लोगों के नाम पते नोट करके पुलिस ने ज्यादातर को छोड़ दिया है। पुलिस ने गोदाम को सील कर दिया है।

यह भी पढ़ें:-ISIS का अब्दुल युसुफ गिरफ्तार, IED बम से पुलवामा की तरह उड़ाने वाला था दिल्ली