Saturday, October 16, 2021

लखीमपुर खीरी हिंसा के खिलाफ किसान मोर्चा का बड़ा ऐलान, 18 रेल रोको आंदोलन, 26 को लखनऊ में महापंचायत

- Advertisement -
- Advertisement -

खीमपुर खीरी हिंसा के बाद भले ही सरकार ने पीड़ित परिवारों के साथ समझौता कर लिया है लेकिन विपक्ष और किसान मोर्चा इस मुद्दे को लेकर सरकार की परेशानी बढ़ा रहे हैं। किसान मोर्चा ने किसानों पर हो रहे जुल्म को लेकर देशव्यापी आंदोलन का ऐलान कर दिया है। किसान नेता जोगिंदर सिंह उगराहां ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रदर्शन कर रहे किसानों के खिलाफ सरकार ने हिंसक रुख अपनाया है। हमारी मांग है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा और उनके बेटे आशीष को गिरफ्तार किया जाए।

इसे भी पढ़ें : विरोधियों पर बरसीं मायावती, कहा – हवा हवाई हैं बीजेपी, सपा, कांग्रेस के वादे, चुनाव आयोग से करूंगी शिकायत

लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा के नेता योगेंद्र यादव ने मांग की है कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को उनके पद से हटाकर उनकी गिरफ्तारी हो। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि दशहरा के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह का पुतला जलाया जाएगा। योगेंद्र यादव ने कहा कि लखीमपुर हिंसा के विरोध में 18 अक्टूबर को ‘रेल रोको’ आंदोलन किया जाएगा।

लखीमपुर खीरी घटना को लेकर किसान नेताओं का आरोप है कि साजिश पहले ही रची जा चुकी थी। ऐसा सिर्फ आंदोलन कर रहे किसानों को आतंकित करने के लिए किया गया है। किसान नेता दर्शन पाल ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि सरकार के इस रवैये को देखते हुए 26 अक्टूबर को किसान मोर्चा ने लखनऊ में महापंचायत का आयोजन किया है।

इस बीच शनिवार को लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा लखीमपुर खीरी में क्राइम ब्रांच के दफ्तर में सुबह 11 बजे पहुंचे। जहां उनसे पूछताछ जारी है। शुक्रवार को भी उन्हें पेश होना था लेकिन वो नहीं हुए। वहीं दूसरी तरफ आशीष मिश्रा के समर्थक भी लखीमपुर खीरी में क्राइम ब्रांच के दफ्तर के बाहर पहुंच गए हैं, जो नारेबाजी कर रहे हैं।

गौरतलब है कि बहराइच जिले के जगजीत सिंह की शिकायत पर दर्ज एफआईआर के अनुसार, लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा पूरी तरह से सुनियोजित थी। इसकी साजिश मंत्री और उनके बेटे ने रची थी। एफआईआर के अनुसार, केंद्रीय मंत्री का बेटा उस कार में मौजूद था, जिससे किसानों को कुचला गया है। इसके आलावा उस पर फायरिंग करने का भी आरोप लगाया गया है। केंद्रीय मंत्री के भड़काऊ बयान दिया और उसके के बाद हिंसा भड़की, जिसमे 8 लोगों की मौत हुई।

इसे भी पढ़ें : लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में अखिलेश ने कहा – जीप के टायरों से रौंदा जा रहा है देश का कानून

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -