मोदी और योगी के निर्देश का उल्लंघन, बस्ती जिला प्रशासन की नाक के नीचे सैकड़ें लोग हो रहे हैं इक्ट्ठा, हो रहा दावत

622

बस्ती: उत्तर प्रदेश के बस्ती जनपद के हरैया थाना क्षेत्र में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार द्वारा लॉकडाउन को लेकर जारी एडवाइजरी का लोग धड़ल्ले से उल्लंघन करते हुए नज़र आ रहे है साथ ही जमकर पार्टियां मना रहे हैं, और वहीं जिला प्रशासन इस पर मूक दर्शक बना हुआ है। बस्ती जिला प्रशासन केंद्र की मोदी सरकार और सूबे की योगी सरकार के सारे मेहनत पर पानी फेर रही हैं। यह सिर्फ बस्ती का ही नहीं लगभग हर जनपद के ग्रामीण अंचल का हाल है। कहीं जन्मदिन तो कहीं ब्रह्मभोज तो कहीं अन्य कार्यक्रम के नाम पर जमकर दावत किये जा रहे है। जबकि सरकार ने साफ शब्दों में लोगों को घर से निकलने के लिए रोक लगाई है और सोशल डिस्‍टेंस की बात कही है। लेकिन बस्ती जिला प्रशासन पर इसका कोई असर नहीं है, जिला प्रशासन के सारे वादे हवा हवाई हैं। मामला हरैया थाने से चंद दूर देवरी और महादेवरी गांव का है जहां भागवत कथा के बाद सहभोज का आयोजन किया गया था। जिसमें काफी संख्या में लोग एकत्रित हुए और भोजन प्रसाद ग्रहण किए। लेकिन सवाल ये बनता है कि जिले में धारा 144 लागू होने के बाद भी इतनी बड़ी संख्या में लोग कैसे एकत्र हुए।

यह भी पढ़ें:-मध्य प्रदेश में एक बार फिर खिला कमल, शिवराज सिंह बने चौथी बार मुख्यमंत्री

क्या जिला प्रशासान के डीएम, एसपी,और हरैया थाना के दरोगा और सिपाहियों को इसकी भनक तक नहीं लगी, क्या जिला प्रशासन की बड़ी चूक नहीं है? और अगर चूक नहीं तो इतने बडें आयोजन का परमिशन किसने दिया? यह जांच का विषय बनता है। जबकि देश भर के हर बडें मंदिरों को कुछ दिन के लिए बंद कर दिया गया है। केंद्र सरकार और प्रदेश की योगी सरकार ने लोगों को एक साथ खड़े होने पर रोक लगा रखी है लोगों से कम से कम 2 मीटर की दूरी पर खड़े होने की अपील भी की है। कोरोना वायरस को लेकर जहां पूरे विश्व मे त्राहिमाम मचा हुआ है वही भारत भी इससे अछूता नही ,इस मुद्दे पर चाहे केंद्र की सरकार हो या फिर राज्य की सरकारें सभी इस कोरोना नाम की वैश्विक महामारी को रोकने को लेकर बहुत ही गंभीर हैं और तमाम जन जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को जागरूक करने का पूरा प्रयास कर रहीं हैं।

खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को पूरे देश में जनता कर्फ्यू का आह्वान किया था ताकि लोग घरों से बाहर ना निकले और कोरोना वायरस को कमजोर किया जा सके।

यह भी पढ़ें:-हनुमान जी के आशीर्वाद से इन राशियों की चमकेगी किस्मत, मीन राशि वाले रहें सावधान, जाने 24 मार्च का राशिफल

इसी क्रम में बस्ती जिला प्रशासन भी पूरी तरह से इस वायरस के खिलाफ मुस्तैद है जिला प्रशासन कोरोना वायरस से लड़ाई लड़ने के लिए कमर कस चुकी है। अगर हम तैयारियों की बात करे तो मेडिकल कॉलेज औरवजिला अस्पताल के साथ साथ महिला अस्पताल में भी आइसोलेशन वार्ड को तैयार कर लिया गया है। कोरोना को लेकर जिला प्रशासन कही से भी कोई कोर कसर नही छोड़ रही यहां तक कि जिला अस्पताल में 24 घंटे के लिए कंट्रोल रूम बना दिये गए जहां से कोई भी इससे संबंधित सूचना का आदान प्रदान कर सकता है, वही जिला अधिकारी आशुतोष निरंजन ने जिले के सभी शॉपिंग मॉल, हेयर सैलून ,रेस्टोरेंट्स आदि को 2 तारीख तक बंद करने का एडवाइजरी जारी कर दिया है फिर भी अगर इसका कोई उल्लंघन करते हुए पाया गया तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी साथ ही साथ पूरे विश्व में इस महामारी को देखते हुए बस्ती जनपद में धारा 144 भी लागू कर दिया गया है ताकि एक जगह समूह में लोग एकत्रित ना हों।

यह भी पढ़ें:-पीएम मोदी के इन टिप्स को अपनाएँ और खुद को कोरोना वायरस से बचाएं

 बस्ती से रजनीश कुमार पाण्डेय की रिपोर्ट