बीयर पीने वाले हो जाएं सावधान, नहीं सुधरे तो टूट सकता है पिता बनने का सपना

98

नई दिल्ली। शराब स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है यह केवल उसकी बोतल पर ही नहीं लिखा होता बल्कि पीने वालों को भी पता है कि इससे स्वास्थ्य और धन दोनों बर्बाद होता है। कुछ लोगों का तर्क है कि बीयर नुकसान की जगह फायदा पहुंचाती है। लेकिन लंदन के हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध के मुताबिक बीयर पीना न सिर्फ स्वास्थ्य के लिए हानिकारक बल्कि आपके भविष्य के लिए भी खतरा है। मतलब ज्यादा बीयर पीना आपके पुरुषत्व क्षमता को प्रभावित कर देगा। हाल ही में हुए शोध में पता चला है कि बीयर पीने वाले पुरुषों में पिता बनने की क्षमता 50 फीसदी तक कम हो जाती है। बीयर पीने वालों के पेट बाहर निकल आते हैं और उनकी प्रजनन क्षमता में कमी आ जाती है। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के शोध के अनुसार पुरुषों के पेट पर चढ़ रही हर दो इंच अतिरिक्त चर्बी से पिता बनने की क्षमता 10 फीसदी तक घट जाती है। साथ ही एक मटके के आकार की तोंद को काफी खतरनाक बताया गया है।

इसे भी पढ़ें: एक अगस्त से इन बैंकों में न्यूनतम बैलेंस और लेनदेन के बदल जायेंगे नियम

बता दें कि विशेषज्ञों ने चेतावनी जारी की है कि वसा एक रसायन का उत्पादन करती है जो टेस्टोस्टेरोन को महिला सेक्स हार्मोन एस्ट्रोजन में बदल देती है। केयर फर्टिलिटी क्लीनिक के प्रो. चार्ल्स किंग्सलैंड ने बताया कि जिनके पेट का आकार गोल मटके जैसे है वे सतर्क हो जाएं। जानकारी के अनुसार अमेरिकी डॉक्टरों ने 180 पुरुषों और महिलाओं पर आईवीएफ इलाज शुरू करने से पहले अध्ययन किया। डॉक्टरों ने कहा आईवीएफ के दौरान पुरुषों के पेट पर दो इंच अतिरिक्त चर्बी बढ़ने से उनमें बच्चे पैदा करने की क्षमता में नौ फीसदी की कमी आई। शोधकर्ता प्रमुख डॉक्टर जॉर्ज चावारो ने सतर्क करते हुए बताया कि पेट में जमी चर्बी शरीर के किसी और अंग में जमी चर्बी की तुलना में ज्यादा खतरनाक रसायन निर्मित करती है। उन्होंने कहा कि 32 इंच की कमर वालों की अपेक्षा 40 इंच की कमर वाले पुरुषों के पिता बनने की संभावना 33 प्रतिशत तक कम होती है।

उन्होंने आगे कहा कि सिर्फ महिलाओं को ही नहीं बल्कि गर्भावस्था के लिए पुरुषों को भी तैयार रहना होगा। इस शोध के मुताबिक बच्चे पैदा करने के लिए सिर्फ महिलाएं ही जिम्मेदार नहीं होती बल्कि पुरुषों की भूमिका भी उतनी ही आवश्यक होती है। मोटे पुरुषों में शुक्राणु बनाने की क्षमता प्रभावित रहती है, जिसके चलते उनकी प्रजनन क्षमता में कमी देखी जा सकती है।

इसे भी पढ़ें: कहां गए विकास दुबे के ये साथी , पुलिस के लगातार दबिश के बाद भी नहीं लग पा रहा सुराग