spot_img
Friday, September 17, 2021

तालिबान के बढ़ते खतरे के बीच CM योगी ने आतंकवाद के खिलाफ उठाया ये बड़ा कदम

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आतंक और संबंधित गतिविधियों पर नकेल कसने के लिए एक साथ राज्य में एटीएस की 12 इकाइयों की स्‍थापना की संस्तुति की है। सीएम ने एटीएस को और ज्यादा मजबूत करने के लिए प्रस्ताव भी मांगा है। नए अत्याधुनिक संसाधनों से जल ही अब एटीएस को लैस किया जाएगा। इसके आलावा एटीएस में कर्मचारियों और अधिकारियों की संख्या में इजाफा किया जायेगा।सूबे के दस सबसे संवेदनशील जिलों में जल्द एटीएस की ईकाई स्‍थापित की जाएगी, जिसमे अलीगढ़, मेरठ, श्रावस्ती, ग्रेटर नोएडा (जेवर एयरपोर्ट), बहराइच, कानपुर, आजमगढ़ (निकट एयरपोर्ट), सोनभद्र, सहारनपुर के देवबंद में और मीरजापुर जिलों के नाम शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें : कंपनी नहीं दे रही पासपोर्ट, परिजन का हैं बुरा हाल, काबुल में फंसे यूपी के लोगों ने लगाई सरकार से गुहार

आवंटित हुई भूमि
जिलों में भूमि का आवंटन एटीएस की ईकाई स्‍थापित करने के लिए हो चुका है। वहीं अब भवनों में निर्माण की कार्रवाई चल रही है। झांसी और वाराणसी में भी जल्द एटीएस इकाई की स्थापना के लिए भूमि आवंटन हो सकता है। भारत-नेपाल सीमा पर बहराइच और श्रावस्ती में एटीएस की नई फील्ड यूनिट स्थापित की जा चुकी है, जिससे एटीएस ज्यादा मजबूत और अधिक प्रभावशाली होगी।

यूपी एटीएस ने अब तक कई आतंकवादी संगठनों, हिजबुल मुजाहिद्दीन, जेएमबी, हिजबुल मुजाहिद्दीन, आईएसआईएस, पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के जासूसों के आलावा पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई), एबीटी/बांग्लादेश, टेरर फंडिंग, नक्सल, जाली भारतीय मुद्रा, बब्बर खालसा आदि से संबंध रखने वाले 69 आतंकियों और विभिन्न अपराधों से जुड़े 216 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

एटीएस ने पिछले दिनों ही मूक बधिर छात्रों, कमजोर आय वर्ग के लोगों को रूपए, नौकरी, शादी का लालच देकर धर्मांतरण कराने वाले एक बड़े सिंडिकेट का पर्दाफाश किया था। इस मामले में अब तक कई आरोपी भी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। फर्जी मोबाईल सिम एक्टीवेट कराने के संबंध में 16 जनवरी को एटीएस ने 18 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है, जिसमे से 3 चीनी नागरिक हैं, जो कूट रचित प्रपत्रों के आधार पर सिम एक्टिव करते थे। यह मामला न सिर्फ आर्थिक घोटाले से जुड़ा है बल्कि राष्ट्र विरोधी गतिविधियों से जुड़ा है, जिसकी जांच अभी चल रही है।

इसे भी पढ़ें : सीएम योगी का बड़ा ऐलान, देवबंद में खुलेगा ATS कमांडो सेंटर, इतनी संख्या में होगी तैनाती

- Advertisement -
spot_img
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -