पहले किया रेप, फिर रचाई शादी, अब मंडप में इंतजार करती रही दुल्हन, नहीं पहुंचा दूल्हा

481

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से अजीब घटना सामने आई है। यहां शादी के दिन सच संवरकर दुल्हन, दूल्हें का इंतजार करती रही, लेकिन दहेज की मांग पूरी न होने पर बाराती तो आ गए मगर दूल्हा नहीं आया। इसके बाद लड़की पक्ष वालों ने एसएसपी से मिलकर मामले की शिकायत की है, जिस पर जांच बैठा दी गई है। मामला हाथरस के सासनी के एक गांव का है। आरोप है कि हरदुआगंज के औरंगाबाद निवासी युवक से लड़की की शादी तय की गई थी और 25 दिसंबर को बारात आनी थी। शादी का कार्ड भी सभी रिश्तेदारों को दे दिया गया था। दुबे के पड़ाव स्थित भारतीय स्टेट बैंक के निकट शादी समारोह स्थल था और विवाह की पूरी तैयारी हो चुकी थी।

इसे भी पढ़ें: न मिला न्योता और न ही शिलापट्ट पर लिखवाया नाम, शिलान्यास कार्यक्रम में विधायक ने काटा हंगामा

समारोह स्थल पर बाराती व घराती पहुंच गए थे और दुल्हन भी शादी के जोड़ों में मंडप में आ गई थी। लेकिन काफी समय बीत गया दूल्हा नहीं आया। जबकि दूल्हे पक्ष की तरफ से मात्र 10 लोग शादी समारोह में पहुंचे थे। दुल्हन पक्ष के लोगों ने जब दूल्हे के बारे में पूछा तो उसके परिजनों ने छह लाख रुपए दहेज की मांग रख दी। दूल्हे पक्ष की मांग सुनकर दुल्हन पक्ष सकते में आ गया और इधर उधर से धनराशि जुटाकर दो लाख रुपए इकट्ठा भी कर लिए। लेकिन दूल्हे का परिवार छह लाख रुपए की मांग पर ही अड़ा रहा और इसके बिना शादी से इनकार करता रहा। तमाम प्रयासों के बाद दुल्हन पक्ष ने पुलिस बुला लिया।

वहीं इस बारे में गांधी पार्क थाना के एसएसआई का कहना है कि दोनों की पहले कोर्ट मैरिज हो चुकी है। किसी बात को लेकर दोनों में दिन में विवाद हो गया था। इसी के चलते दूल्हा रात में समारोह में नहीं आया। उन्होंने बताया कि शादी समारोह किसी मंडप में नहीं, बल्कि घर में आयोजित किया गया था। इसमें दुल्हन को अपने एक परिचित के यहां से ससुराल के लिए विदा होना था। वहीं जानकारी मिली है कि युवती ने दो वर्ष पहले इसी युवक पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। मामला वर्ष 2018 का है। इस दौरान युवक पर आरोप लगाया गया था कि वह एक कॉलेज में दाखिला दिलाने के नाम पर युवती का शोषण किया व दुष्कर्म किया। लेकिन बाद में इस मामले में दोनों पक्षों ने समझौता कर लिया था।

इसे भी पढ़ें: बैंक धोखाधड़ी मामले में सीबीआई ने 19 स्थानों पर की छापेमारी, हाथ लगे अहम सुराग