कोविड -19 पॉजिटिव युवती से रेप का प्रयास करने वाला डॉक्टर निलंबित

73
rape

अलीगढ़। कहां तो एक ओर कहा जाता है कि कोरोना संक्रमित से कम से कम दो गज की दूरी बना रखना चाहिए। कहां इस तरह की सलाह देने वाले डॉक्टर ही इसे फालो नहीं कर पा रहे हैं। यहां अलीगढ़ के एक अस्पताल में एक डॉक्टर ने ही कोरोना पॉजिटिव लड़की से दुष्कर्म का प्रयास किया था, जिसे निलंबित कर दिया गया है। हालंकि शासन को भेज गयी सीएमओ की आख्या रिपोर्ट पर कार्रवाई होनी बाकी है। जानकारी के मुताबिक डीडीयू अस्पताल के कोविड-19 एल-2 वार्ड में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर तुफैल अहमद ने गत21 जुलाई की रात के बिना पीपीई किट पहने कोरोना संक्रमित युवती से क्वारंटाइन वार्ड में दुष्कर्म की कोशिश की थी। उस रात जब डॉक्टर अपने मकसद में सफल नहीं हो सका तो दसरे दिन यानी 22 जुलाई की सुबह फिर से युवती से दुष्कर्म का प्रयास किया।

इसे भी पढ़ें:-शादी का झांसा देकर युवती से ऑफिस के साथी ने 3 साल तक किया दुष्कर्म

युवती ने घटना की जानकारी अपने परिजनों को दी। पिता की शिकायत पर जब जांच की गयी तो मामला सही पाया गया, इसके बाद डॉक्टर पर धारा 376 आईपीसी (2) (घ) क तहत मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने होटल से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। क्वारंटाइन वार्ड में सीसीटीवी खंगाल कर सच्चाई सबके सामने लाई थी।
बता दें कि डॉ. तुफैल अहमद दिसंबर 2012 में डीडीयू अस्पताल में तैनात किये गये थे, वह एमबीबीएस और डिप्लोमा ऑर्थो कर सेवा में आए। डॉक्टर तुफैल बीते आठ साल से अस्पताल में सेवा दे रहे थे, उन्हें काफी मेहनती और जिम्मेदार डॉक्टर माना जाता था। मेडिकल बोर्ड टीम भी उनका नाम था।

डॉ.बीपी सिंह, सीएमओ के अनुसार

दुष्कर्म के प्रयास में आरोपी डॉ. तुफैल अहमद निलंबित किया जा चुका है। सरकारी आदेश के अनुसार कोई भी सरकारी कर्मचारी जेल जाने के 48 घंटे बाद निलंबित कर दिया जाता है। ऐसे में वह निलंबित हो चुके हैं। इसके अलावा शासन को भेजी गई आख्या के आधार पर शासन अपने स्तर से कार्रवाई करेगा।

इसे भी पढ़ें:-गाय से दुष्कर्म करने के आरोप में 55 वर्षीय व्यक्ति गिरफ्तार