वैक्सीन को लेकर अखिलेश यादव के बदले सुर, बोले- भाजपा वैक्सीन के खिलाफ थे भारत सरकार के नहीं

0
23
Vaccine

कोरोना संक्रमण को रोकने की जंग में टीकाकरण के अभियान को तेजी देने के लिए केंद्र सरकार ने सोमवार को नई नीति की घोषणा की है। सरकार द्वारा ऐलान की गई बड़े ऐलानो पर अब लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। उसी में एक बयान अब यूपी के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव का आया है। उन्होंने कहा है कि वह भारत सरकार का टीका लगाएंगे वह सिर्फ भाजपा के टीके के खिलाफ थे।

यूपी के पूर्व सीएम ने ट्वीट करके लिखा कि जन आक्रोश को देखते हुए आखिरकार सरकार ने कोरोना के टीके के राजनीतिकरण की जगह यह घोषणाएं करी कि वो टीके लगवाए गी हम भाजपा के टीके के खिलाफ थे। पर ‘भारत सरकार’ के टीके का स्वागत करते हुए हम भी टीका लगाएंगे व टीके की कमी से जो लोग लगवा नहीं सके थे उनसे भी लगवाने की अपील करते हैं।

जनता के आक्रोश को देखते हुए आखिरकार सरकार ने कोरोनावायरस के टीके के राजनीतिकरण की जगह यह घोषणा करी कि वह टीके लगवाएगी।

आपको बता दें कि इस वर्ष जनवरी में जब वैक्सीनेशन की शुरुआत होने लगी थी तब अखिलेश यादव ने घोषणा किया था कि उन्हें बीजेपी की वैक्सीन पर विश्वास नहीं है, जब हमारी सरकार आएगी तो सभी को फ्री में वैक्सीन लगेगी।

मुलायम सिंह ने लगवाई वैक्सीन

अखिलेश यादव का यह बयान तब आया जब बीते दिन समाजवादी पार्टी के संरक्षक और अखिलेश यादव के पिता मुलायम सिंह यादव की वैक्सीन लेते हुए तस्वीर मुलायम सिंह यादव ने कोरोना वैक्सीन लगाई और उनकी यह तस्वीर वायरल होते ही सियासत ने जोर पकड़ लिया।

मुलायम सिंह यादव के वैक्सीन लगवाने पर उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने तंज कसते हुए कहा कि स्वदेशी वैक्सीन लगवाने के लिए आपका धन्यवाद। आपके द्वारा वैक्सीन लगवाना इस बात का प्रमाण है कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव द्वारा वैक्सीन को लेकर अफवाह फैलाई गई थी। जिसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए। बीजेपी की तमाम नेताओं ने मुलायम सिंह यादव के वैक्सीन लगवाने का स्वागत किया और साथ ही कहा कि उम्मीद है कि अखिलेश यादव और सपा कार्यकर्ता भी अब टीका लगाएंगे।

इसे भी पढ़ें-यूपी : फेरों से पहले दुल्हन के इस फैसले से बारातियों में छाया सन्नाटा, वापस लौटी बारात