Thursday, January 20, 2022

अखिलेश यादव की बढ़ी मुश्किलें, लखनऊ DM ने इस मामले में दिए जांच के आदेश

लखनऊ के डीएम ने जांच के आदेश दे दिए है। इससे सपा अध्यक्ष बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं। लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश ने कहा है कि सपा का कार्यक्रम बिना किसी अनुमति के किया गया है। मामले की सूचना पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस टीम को सपा पार्टी ऑफिस भेजा गया। जांच रिपोर्ट के आधार पर ज़रूरी कार्रवाई की जाएगी।

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ। बीजेपी के बागी मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, धर्म सिंह सैनी समेत दर्जनभर नेताओं ने आज समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है। सपा दफ्तर में हुए कार्यक्रममें भारी संख्या में लोग मौजूद थे लेकिन इसे नाम वर्चुअल रैली दिया गया था। कोरोना के बढ़ते संकट के बीच अखिलेश यादव ने शुक्रवार को पार्टी दफ्तर में जो कार्यक्रम किया है। उसमे कोरोना नियमों का पालन होते हुए नहीं दिखा, जिसके बाद लखनऊ के डीएम ने जांच के आदेश दे दिए है। इससे सपा अध्यक्ष बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं। लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश ने कहा है कि सपा का कार्यक्रम बिना किसी अनुमति के किया गया है। मामले की सूचना पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस टीम को सपा पार्टी ऑफिस भेजा गया। जांच रिपोर्ट के आधार पर ज़रूरी कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें : बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने CM योगी के अयोध्या से चुनाव लड़ने पर दिया बड़ा बयान, कहा – उन्हें तो मुस्लिम भी…

कोरोना माहमारी के बढ़ते हुए खतरे को देखते हुए चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक किसी भी तरह की रैली पर रोक लगा रखी है। चुनाव प्रचार सिर्फ वर्चुअल तरीके से ही होना है। रैली और रोड शो पर पूरी तरह से पाबन्दी लगी हुई है। ऐसे में शुक्रवार को जब सपा कार्यालय में कार्यक्रम हुआ तो कोरोना से सम्बंधित नियमों का पालन नहीं हुआ और सपा ऑफिस में भारी संख्या में लोग मौजूद थे।

समाजवादी डिजिटल-वर्चुअल और फिजिकल भी चलेंगे
अखिलेश यादव ने कार्यक्रम में कहा कि, वो चुनाव आयोग के द्वारा बनाए गए दिशा निर्देशों का पालन करेंगे। उन्होंने कहा कि, ऐसा किसी ने भी नहीं सोचा था कि, चुनाव ऐसे भी होगा। अब हमने अपनी बात डिजिटल प्लेटफॉर्म से कहनी है। वर्चुअल और डिजिटल में भी हम चीजों को जानते हैं लेकिन जो हमारे कार्यकर्ताओं में फिजिकली है, उसका तो कोई मुकाबला ही नहीं कर सकता। हम समाजवादी डिजिटल-वर्चुअल और फिजिकल भी चलेंगे और घर-घर, गांव-गांव जाकर प्रचार करेंगे।

कुंभकर्णी नींद सो रहे थे बीजेपी के बड़े नेता
स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि, बीजेपी के बड़े नेता आज जो कुंभकर्णी नींद सो रहे थे। इन्हे कभी नेताओं, विधायकों और सांसदों से बात करने का समय ही नहीं मिता था। आज उन्हें नींद ही नहीं आ रही है। बीजेपी के लोगों ने सत्ता दलितों, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों और मजलूमों की आंख में धूल झोंककर सत्ता हासिल की थी.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने दावा करते हुए कहा कि, 2017 के चुनाव में दावा किया जा रहा था या तो केशव प्रसाद मौर्य या तो स्वामी प्रसाद मौर्य प्रदेश के सीएम होंगे लेकिन पहले तो गाजीपुर के नेता को मुख्यमंत्री बनाने की कोशिश की गई। फिर अचानक गोरखपुर के नेता को सीएम बना दिया। उन्होंने कहा कि, आज के बाद ऐसी आंधी चलेगी जिससे बीजेपी के परखच्चे उड़ जाएंगे।

इसे भी पढ़ें : UP Elections : BJP में बगावत के बाद बैकफुट पर आया संगठन, इन विधायकों को मिली राहत, नहीं कटेगा टिकट

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -