प्रशासनिक उपेक्षा से क्षुब्ध दो महिलाओं ने विधानसभा के सामने किया आत्मदाह का प्रयास, एक की हालत नाजुक

139

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लाख बेहतर प्रशासन का दावा कर ले लेकिन सच यह है कि सूबे की हालत काफी दयनीय है। इसका एक कारण यह भी है कि योगी सरकार ने प्रशासनिक अधिकारियों को काफी छूट दे रखी है। जिसका नतीजा आम जनता के साथ—साथ पार्टी के नताओं को भी उठाना पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें: प्रेमी को पति बता कर महिला सिपाही हुए क्वारनटीन, जानिए फिर क्या हुआ?

जमीनी विवाद और प्रशासनिक उपेक्षा से तंग आकर अमेठी के जामू की रहने गुड़िया और सोफिया ने आज विधानसभा के सामने आत्मदाह का प्रयास किया। इस दौरान दोनों बुरी तरह से झुलस गई हैं। दोनों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां एक की हालत नाजुक बताई जा रही है।

खबर लिखे जाने तक पूरा मामला स्पष्ट नहीं हो पाई है। फिलहाल राजधानी में ऐसी घटना हो घट जाना बड़ी बात है। विधानसभा जहां हमेशा पुलिसबल मौजूद रहता है। वहां आत्मदाह की घटना घट जाना पूरे तंत्र को दागदार करने वाला है।

इसे भी पढ़ें: सवालों के घेरे में फिर आई खाकी, वांटेड के साथ पार्टी करते दिखे पुलिसकर्मी, तस्वीरें वायरल