अयोध्या को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने का खाका तैयार, कनाडा की इस कंपनी को मिली जिम्मेदारी

21
ayodhya

अयोध्या। मंदिर-मस्जिद विवाद के चलते लंबे समय से विकास का इंतजार कर रही अयोध्या का अब जल्द ही काया कल्प होने वाला है। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अयोध्या को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने का खाका तैयार कर लिया है। इसके लिए कनाडा की LEA एसोसिएट्स को कन्सल्टेंसी एजेंसी बनाया गया है,जो अयोध्या के पूर्ण विकास की प्लानिंग करेगी।

इसे भी पढ़ें:- अयोध्या में बन रहे एयरपोर्ट के नाम में होगा परिवर्तन, सीएम योगी ने रखा ये नाम

रामजन्म भूमि और बाबरी मस्जिद विवाद के चलते लंबे समय से अयोध्या का विकास नहीं हो पा रहा था, लेकिन साल 2019 में सुप्रीम कोर्ट का फैसला रामलला के पक्ष में आने के बाद अब राज्य सरकार ने यहां भव्य राम मंदिर बनाने के साथ ही अयोध्या को वर्ल्ड लेबल पर विकसित करने की प्लानिंग कर ली है। अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने के लिए तीन कंपनियों से करार हुआ है। यह कंपनियां अयोध्या की स्मार्ट सिटी एरिया प्लानिंग, रिवर एरिया डेवलपमेंट, हेरिटेज, टूरिज्म और अर्बन इंफ्रास्ट्रक्चर नियोजन पर काम करेंगी, अयोध्या को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने का जिम्मा संभालने वाली कनाडा की LEA एसोसिएट्स को कन्सल्टेंसी के साथ सीपी कुकरेजा और L&T पार्टनरशिप होगी। बता दें कि कंसल्टेंसी कंपनी बनने के लिए सात कंपनियों ने बिड डाली थी।

26 दिसंबर को प्रकाशित किया गया था रिक्वेस्ट फ़ॉर प्रपोजल 

अयोध्या की डेवलपमेंट ऑथोरिटी ने कनाडा की LEA एसोसिएट्स साउथ एशिया प्राइवेट लिमिटेड का चयन किया है। गौरतलब है कि अयोध्या विकास परिषद् ने गत 26 दिसंबर 2020 को रिक्वेस्ट फ़ॉर प्रपोजल प्रकाशित किया गया था जिसके तहत,कई कंपनियों ने आवेदन किया था। लखनऊ स्थित आवास विकास परिषद में खोली गई कंपनियों की वित्तीय और तकनीकी निविदा के आधार पर एलईए को भव्य अयोध्या विजन डॉक्यूमेंट बनाने का जिम्मा दिया गया। एलईए के पार्टनर के तौर पर, मैसर्स लार्सन एंड टुब्रो इंफ्रास्ट्रक्चर, इंजीनियरिंग लिमिटेड और मैसर्स सीपी कुकरेजा एसोसिएट्स कंसोशिर्यम सहयोगी कंपनी होंगीं।

इसे भी पढ़ें:-नेपाल में अब अयोध्या बसाने की तैयारी, 40 एकड़ भूमि हुई आवंटित