Monday, May 23, 2022

UP Elections: BJP के लिए सिरदर्द बनीं दूसरे चरण की 55 सीटें, जानें बड़ी वजह

विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 55 सीटों पर बीजेपी के सामने सबसे ज्यादा चुनौतियां होंगी। इन सभी सीटों पर बड़ी आबादी मुस्लिम मतदाताओं की हैं।

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 55 सीटों पर बीजेपी के सामने सबसे ज्यादा चुनौतियां होंगी। इन सभी सीटों पर बड़ी आबादी मुस्लिम मतदाताओं की हैं। चुनाव के बरेली, सहारनपुर में मुस्लिम धर्म गुरु भी सक्रिय हो जाते हैं। उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों पर सात चरणों में मतदान होना है। दूसरे चरण में 14 फरवरी को पश्चिमी यूपी के संभल, मुरादाबाद, बिजनौर, अमरोहा,सहारनपुर, बरेली, बदायूं, रामपुर और शाहजहांपुर जिलों की 55 सीटों पर वोटिंग होंगी, जिसके लिए 21 जनवरी को अधिसूचना जारी होगी।

इसे भी पढ़ें : UP Elections: अपर्णा यादव के BJP में शामिल होने पर अखिलेश यादव ने कसा तंज, कही ये बड़ी बात

2017 के विधानसभा चुनाव में इन 55 सीटों में से 38 सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की थी। जबकि 15-15 सीटें सपा और कांग्रेस को मिली थी। दोनों ही दलों ने गठबंधन में चुनाव लड़ा था। सपा को मिली 15 में से 10 पर मुस्लिम उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की थी। वहीं पहले चरण की 58 में से 53 पर बीजेपी गठबंधन ने जीत दर्ज की थी। इसके आलावा आरएलडी और बसपा को एक-एक सीट मिली थी।

बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक ने दावा किया है कि, बीजेपी दूसरे चरण में भी पहले से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज करेगी। केंद्र और राज्य सरकार ने सभी वर्गों के विकास को प्राथमिकता दी। लोगों ने इसे महसूस किया है। प्रदेश में में लंबे समय तक कांग्रेस और फिर 15 साल तक सपा-बसपा ने लूटा है। भ्रष्टाचार से पीड़ित जनता अब इन दलों को दोबारा मौका नहीं देने वाली है।

सपा ने कांग्रेस के मिलकर 2017 के विधानसभा और 2019 में बसपा और आरएलडी के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ा था। इन दोनों ही चुनावों में बीजेपी गठबंधन को 55 सीटों लाभ मिला। वहीं 2022 में सपा-बसपा-कांग्रेस अलग-अलग चुनाव लड़ रही हैं। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि, इन दलों को चुनाव में नुकसान उठाना पड़ेगा क्योंकि मुस्लिम बिखराव होगा। इसकी सीधा फायदा बजे को होगा। इन सीटों पर सपा गठबंधन धुर्वीकरण की से बचने के लिए ज्‍यादातर हिंदू उम्मीदवारों को उतार रही है। वहीं बसपा मुस्लिम उम्मीदवार उतार रही है।

इसे भी पढ़ें : बाटला हाउस एनकाउंटर में मारे गए हमारे बच्चे, मिलना चाहिए उन्हें शहीद का दर्जा : मौलाना तौकीर

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -