यूपी विधान परिषद के चुनाव की तारीखों की घोषणा, वोटिंग 1 दिसंबर को, 3 को आएंगे नतीजे

48

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की 11 विधान परिषद (शिक्षक/ स्नातक) की सीटों पर चुनाव कराने की तारीखों की घोषणा कर दी गई है। इसके लिए 5 नवंबर को अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। 12 नवंबर तक उम्मीदवार पर्चा दाखिल कर सकेंगे, वहीं पर्चा वापस लेने की आखिरी तारीख 17 नवंबर निर्धारित की गई है। इन सभी सीटों के लिए वोटिंग 1 दिसंबर को होगी तथा मतगणना और नतीजों का एलान 3 दिसंबर को किया जाएगा। इसके सुबह 8 से शाम 5 बजे तक मतदान किया जा सकेगा। बताते चलें कि चुनाव आयोग ने आज यूपी की 11 और महाराष्ट्र की 5 एमएलसी सीटों के लिए चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है।

इसे भी पढ़ें: आरजेडी प्रत्याशी ने किया दावा, बिहार में सरकार बनते ही कोटे के आधार पर उपलब्ध कराएंगे शराब

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में 11 विधान परिषद सीटें जनवरी 2021 में खाली हो रही हैं। वर्तमान में इन 11 सीटों में से छह पर सपा जबकि दो पर बसपा और तीन सीटों पर भाजपा के सदस्य काबिज है। उत्तर प्रदेश में इस समय भाजपा की सरकार है और उसके विधायकों की संख्या भी काफी ज्यादा है। संख्या बल के हिसाब से 11 विधान परिषद सीटों में से भाजपा 8 से ज्यादा सीटें हासिल कर सकती है। वहीं दूसरी ओर एक सीट पर समाजवादी पार्टी की जीत तय मानी जा रही है जबकि दूसरी सीट के लिए उसे निर्दलीय सहित अन्य दलों के समर्थन की जरूरत होगी।

गौरतलब है कि राज्य में विधान परिषद को उच्च सदन माना जाता है। इसके लिए राज्य विधानसभा के सदस्यों द्वारा एक तिहाई सदस्य चुने जाते हैं। जबकि अन्य एक तिहाई स्थानीय निकायों के सदस्यों यानी नगर पालिका तथा जिला बोर्ड के सदस्यों की तरफ से चुने जाते हैं। इसमें राज्य के शिक्षक 1/12 सदस्यों का चुनाव करते हैं और शेष 1/12 सदस्यों का चुनाव स्नातक कर चुके पंजीकृत मतदाता करते हैं। ज्ञात हो कि विधान परिषद के सदस्यों का कार्यकाल राज्यसभा सदस्यों की तरह छह वर्ष का होता है। हर दो वर्ष में एक तिहाई सदस्यों का चुनाव किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: नंदभवन में मुस्लिम युवकों ने धोखे से पढ़ी नमाज, तस्वीरें वायरल होने पर मुकदमा दर्ज