विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद खूब रोया ये अधिकारी, खोले कई राज, कॉल रिकॉर्डिंग हुई वायरल

5

उत्तर प्रदेश के कानपुर के कुख्यात अपराधी विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद लगातार कई फ़ोन कॉल की रिकॉर्डिंग सामने आ रहीं हैं, जो सोशल मीडिया पर वायरल हैं। बिकरू कांड के आरोपी के विकास की मौत के बाद कानपुर देहात के एक ग्राम पंचायत अधिकारी की कॉल रिकॉर्ड अब चर्चा का केंद्र बनी हुई है। वायरल कॉल रिकॉर्ड में अधिकारी ही कह रहा है कि, वो विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद से ही काफी दुखी है, विकास की मौत के बाद वो कई दिनों तक रोया था। अधिकारी कॉल में बोल रहा है कि, हमारी यारी तो ऐसी थी कि, परतें अगर खुल जायें तो मुझे भी जेल हो जाएगी। कॉल में अधिकारी कह रहा है कि, ज्यादा बुद्धिमानी की वजह से ही विकास दुबे मारा गया है। वरना उसका कोई तोड़ नहीं था।

इसे भी पढ़ें: अलर्ट: आतंकियों के निशाने पर राफेल, लखनऊ, दिल्ली सहित इन शहरों में हमले की फ़िराक में आतंकी

वायरल ऑडियो में ग्राम पंचायत अधिकारी बोल रहा है कि, वो मेरा परम मित्र था, मेरा भाई, मेरा परम लंगोटिया मित्र था विकास। मुझे वो बहुत चाहता था, कांड होने से दो दिन पहले ही मेरी और उसकी बात हुई थी। मैंने उस वक़्त उससे यही कहा था कि, भाई अती मत धरो। उसके बाद विकास ने कहा था कि, मैं तो ये कर सकता हूँ, वो कर दूंगा। मैंने तब उससे कहा था कि, आपका ये तरीका गलत है। ग्राम पंचायत अधिकारी ये भी कहता हुआ सुनाई दे रहा है कि, विकास के घर में लंगर चलता था, जहां रोजाना कई लोग खाना खाया करते थे।

To Believe, or Not to Believe: 5 Questions Raised on Vikas Dubey Encounter

सिर्फ चौबेपुर ही नहीं, बल्कि कई थानों के कई पुलिस वाले, बीडीओ, लेखपाल और तहसीलदार उसके घर खाना खाने जाते थे। गौरतलब है कि, दो जुलाई की देर रात जब पुलिस की टीम विकास दुबे के घर दबिश देने गई तो विकास और उसके साथियों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया और जिसमे आठ पुलिस वाले शहीद हो गए थे। इसके बाद पुलिस ने विकास सहित उसके पांच साथियों को एनकाउंटर में मार गिराया था।

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी की योग्यता पर बराक ओबामा ने उठाए सवाल, बीजेपी नेताओं ने लिए मजे