बच्ची को बचाने के लिए नॉनस्टॉप दौड़ी ट्रेन, पकड़े जाने पर शक्स ने किया चौंकाने वाला खुलासा

55
RAPTI SAGAR EXP

भोपाल। भारत में यह पहला मामला होगा जब एक बच्ची को बचाने के लिए ट्रेन को लगभग ढाई सौ किमी नॉनस्टॉप दौड़ाया गया। हालांकि रेलवे ने जिस मकसद से ट्रेन दौड़ाई थी वह भी पूरा हो गया और बच्ची को बचाकर सकुशल उसके माता पिता को सौंप दिया गया। सुनने और पढ़ने में यह भले ही किसी फिल्म की स्टोरी की तरह लग रही हो लेकिन यह सच है। यह पूरा वाकया ललितपुर से मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल तक के बीच घटित हुआ।  जानकरी के मुताबिक ललितपुर रेलवे स्टेशन पर एक महिला ने वहां तैनात आरपीएफ को बताया कि एक पुरुष जबरन उसकी बेटी को उससे छीनकर स्टेशन पर ले आया, जिसका पीछा करते हुए वह स्टेशन तक आई,लेकिन तब तक वह पुरुष उसकी बेटी को लेकर ट्रेन पर चढ़ गया। घटना की सूचना मिलते ही आरपीएफ ने तुरंत स्टेशन पर लगे सीसीटीवी फुटेज चेक किये तो उसमें महिला ने बच्ची को पहचान लिया।

इसे भी पढ़ें:-ग्रिड फेल होने से मुंबई की बत्ती गुल, ट्रेनें रुकीं, लाखों यात्री फंसे

फुटेज से पता चला कि वह शक्स बच्ची को लेकर राप्ती सागर एक्सप्रेस में चढ़ा है। इस घटना की खबर तुरंत भोपाल आरपीएफ को दी गयी, साथ ही ट्रेन के ड्राइवर को निर्देश दिया गया कि वह ट्रेन को ललितपुर और भोपाल के बीच में पड़ने वाले किसी भी स्टेशन पर न रोके। ऐसे में ट्रेन नॉनस्टॉप चलती रही है और 240 किमी का सफर तय कर भोपाल स्टेशन पर रुकी। हालांकि इस बीच यात्री अपना स्टापेज आने पर ट्रेन रोकने की गुहार लगाते रहे। जैसे ही ट्रेन भोपाल स्टेशन पर पहुंची ट्रेन को आरपीएफ और जीआरपी के जवानों ने घेर लिया और बच्ची की तलाशी शुरू हुई तो कोच नबंर S2 में बताये गये हुलिए का एक शक्स बच्ची को साथ लेकर बैठा था।

पति-पत्नी के बीच कराई सुलह 

आरपीएफ ने शक्स और बच्ची को ट्रेन से उतरा और जीआरपी के हवाले किया। पकड़े गये शक्स ने जीआरपी को बताया की यह उसकी बच्ची है और उसकी पत्नी ने ही उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। उसने बताया की उसका उसकी पत्नी झगड़ा हो गया,जिस पर वह बच्ची को साथ लेकर घर छोड़कर जा रहा था। वह ललितपुर का ही रहने वाला है। वहां वह अपनी पत्नी के साथ रहता था। बाद में उसे जीआरपी के संरक्षण में ललितपुर लाया गया जहां पुलिस ने उन दोनों पति पत्नी के बीच सुलह करा दी, लेकिन रेलवे की इस तत्परता की हर कोई तारीफ कर रहा है।

इसे भी पढ़ें:-त्यौहारी सीजन में 200 ट्रेनें चलाने की तैयारी में रेलवे, जानें कब से कब तक चलेगीं ट्रेनें