अमिताभ की आवाज़ के साथ दिखा बौद्ध धर्म का वैभव और काशी की विरासत

34
Buddhism

वाराणसी l धर्म और संगीत का केंद्र काशी के सारनाथ में ऐतिहासिक विरासत लाइट एंड साउंड में दिखीl सोमवार को पहले दिन दर्शकों,अतिथियों ने अमिताभ बच्चन की आवाज़ में सुना लाइट और साउंड के कार्यक्रम की शुरुआत सुबह-ए-बनारस से हुईl भोर में मंत्रो की गूंज, गीत के राग और तबले की थाप सुनाई देती है. चिड़ियों की चहचहाहट से सूर्योदय होता है.गंगा घाट दिखने के साथ ही मणिकर्णिका की चिता भी दिखती है. इसी बीच काशी के प्रसिद्ध ठुमरी गायक छन्नू लाल मिश्र की होरो सुनाई पडती है.शिव खेले मशाने में होली की गूंज के साथ शिक्षा की ओर दृश्य बदल जाता हैl 1916 में स्थापित काशी हिन्दू विश्वविद्यालय को शिक्षा के केंद्र में दिखाया जाता है.

कपिलवस्तु से सारनाथ तक की दिखी भगवान बुद्ध की यात्रा लाइट एंड साउंड का का प्रथम शो के दौरान अब सारनाथ और बौद्ध धर्म प्रस्तुत होता है. बौद्ध धर्म के वैभव व विकास को एक मानचित्र के मध्यम से दिखाया जाता हैl भगवान बुद्ध के आगमन और शिष्यों के मिलन देख कर दर्शक विभोर हो जाते हैं.सारनाथ के धम्मेकस्तूप, मृगदाव की विरासत सभी के लिए आकर्षण का केंद्र बन जाती है.

अमिताभ की आवाज़ से सजा है विरासतों का इतिहास लाइट एंड साउंड कार्यक्रम में पूरी आवाज़ सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने दिया है. तथ्यों के साथ दृश्यों की बेहतरीन प्रस्तुति हुई है. ज्ञात हो कि प्रथम शो निशुल्क था लेकिन मंगलवार से 30 मिनट के शो का टिकट लगेगा. इससे काशी के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.