कोहली से नहीं टीम इंडिया के इस खिलाड़ी से डरते हैं इंग्लैंड के कप्तान

233

नई दिल्ली। भारत दौरे पर पहुंची इंग्लैंड की टीम ने चेन्नई टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करते हुए पहले मैच में मेजबान भारत को 227 रनों से हराया है। इस जीत के साथ ही इंग्लैंड टेस्ट क्रिकेट में पहले नंबर पर आ गई है। वहीं टीम इंडिया चौथे नंबर पर चली गई है। मैच की दूसरी पारी ने इंग्लैंड के गेंदबाजों ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए हैं, 420 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही टीम इंडिया को सिर्फ 192 रनों के स्कोर को समेट दिया।

इसे भी पढ़ें: एंडरसन ने कहा, इस गेंद पर भारतीय बल्लेबाज रहे नाकाम

इंग्लैंड के सबसे अनुभवी गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने जहां 17 देकर तीन विकेट अपने नाम किये वहीं लेफ्ट आर्म स्पिनर जैक लीच ने 76 रन देकर चार विकेट झटके। टीम इंडिया की तरफ से लक्ष्य का पीछा करते हुए कप्तान विराट (72) और शुभमन गिल (50) की पारी खेली। इंग्लैंड की शुरुआत से मैच में पकड़ बनी हुई थी, लेकिन दूसरी पारी में कप्तान जो रूट मजबूत स्थिति होने के बाद भी टीम की पारी घोषित नहीं कर रहे थे।

इसे देख लग रहा है था कि, इंग्लैंड की टीम मैच जीतने के लिए नहीं ड्रा के लिए खेल रही है। टीम जब आल आउट हुई तब भारत ने अपनी दूसरी पारी शुरू की। मैच खत्म होने बाद जब यही सवाल इंग्लैंड के कप्तान रूट से किया गया तो उनका जवाब कुछ अलग था। कप्तान का कहना है कि, मैं ये सुनिश्चित करना चाहता था कि, इस मैच के सिर्फ दो ही नतीजे हो।

हम अगर सीरीज का पहला ही मैच हार जाते तो ये हमारी खराब शुरुआत रहती। जिसकी वजह से टीम दबाव में रहती। जबकि रूट दूसरी वजह में बताया कि, वो ऋषभ पंत की वजह से पारी घोषित नहीं की। इंग्लैंड की टीम पंत का खेल ऑस्ट्रेलिया में और चेन्नई टेस्ट की पहली पारी में पंत की बल्लेबाजी देख चुके थे। टीम जानती थी कि, अगर दूसरी पारी में चल निकले तो वो मैच का रुख किसी भी बदल सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: चेन्नई टेस्ट: जो रूट ने भारतीय गेंदबाजों की तोड़ी कमर, दर्ज किए कई बड़े रिकॉर्ड