spot_img
Friday, September 17, 2021

सावन के आज अंतिम सोमवार के दिन बन रहा खास योग, जानें महत्व

- Advertisement -
- Advertisement -

सावन महीने में पड़ने वाले सोमवार में आज अंतिम सोमवार है। सावन माह में हर एक सोमवार के दिन भगवान पूरे श्रद्धा भाव से पूजा अर्चना करता हैं। पड़ने वाले चार सोमवार में बताया जा रहा है कि आज आखिरी सोमवार के दिन कुछ खास योग बन रहे हैं। सावन के आखिरी सोमवार को विशेष पूजा करके महादेव का आशीर्वाद लिया जा सकता है। इसके लिए ऐसा कहा गया है कि अगर अंतिम सोमवार का व्रत रख कर लिया और बाबा शिव की पूजा की जाए तो सभी सोमवारों का फल और पुण्य इंसान को प्राप्त हो जाएगा।

सावन के अंतिम सोमवार पर विशेष संयोग-

आज सावन के चौथे और अंतिम सोमवार पर कुछ अद्भुत संयोग भी बन रहे हैं जो इस दिन की विशेषता और भी बढ़ा दी हैं। आज के दिन अनुराधा नक्षत्र, ब्रह्मयोग, यायिजय योग, सर्वार्थ सिद्धि योग का अद्भुत संयोग बन रहा है। सावन के सोमवार के दिन इस संयोग को काफी खास माना गया है। ज्‍योतिर्विदों के अनुसार इन संयोग में सावन के आखिरी सोमवार का व्रत रखने और पूजा पाठ करने से सभी अनुष्ठान सिद्धि मिल जाएंगे।

 

ये है अंतिम सोमवार का महत्व- सावन के अंतिम सोमवार पर शिव की आराधना और व्रत करने से सभी कष्टों से मुक्ति मिल जाएगी। अगर आज के दिन हम शिव जी की पूरे विधि विधान से पूजा पाठ करते है तो हमे भगवान शिव का विशेष आर्शीर्वाद मिलता है। पंडितों के अनुसार अगर आपने सावन के सोमवार का कोई व्रत नहीं रखकर सिर्फ आखिरी सोमवार का व्रत किया हो तो भी आपको सभी सोमवारों का फल और पुण्य प्राप्त हो जाएगा।ष

उज्जैन के महाकाल में हुई भस्म आरती- सावन के अंतिम सोमवार के दिन उज्जैन के महाकाल में भस्म आरती संपन्न हुई। लेकिन ये आरती बिना श्रद्धालुओं के ही हुई। कोविड के चलते महाकाल की भस्म आरती के लिए सभी श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। आज सिर्फ सुबह 6 से 11 और शाम 7 से 9 बजे तक बाबा के दर्शन प्री बुकिंग से ही किए जा सकेंगे।

सावन माह के सभी सोमवार की तरह आज भी सुबह 2:30 बजे बाबा महाकाल के द्वार को खोल दिए गए। पंडे पुजारियों ने बाबा का दूध ,दही ,शहद ,घी से पंचामृत अभिषेक किया। भस्म आरती के बाद बाबा का विशेष श्रृंगार किया गया। असके बाद करीब 1 घंटे तक बाबा अद्भुत भस्म आरती की गई। आरती के बाद आम श्रद्धालुओं को मंदिर में अंदर आने को कहा गया। आज सावन के अंतिम सोमवार पर भक्तों में बाबा भोलेनाथ की एक झलक पाने के लिए खासा उत्साह देखने को मिला। बाबा के दर्शन के बाद ही भक्त का दिन पूरा होता है।

इसे भी पढ़ें-UP : कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए आज से खुले स्कूल, इन छात्रों की लगेंगी क्लास

 

- Advertisement -
spot_img
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -