पुजारी के साहस से बचे भगवान के जेवर, भाग खड़े हुए चोर

149
Avadhesh Dwivedi, priest of Hanuman temple

लखनऊ: राजधानी के राजाजीपुरम इलाके में स्थित प्राचीन टड़ियन हनुमान मंदिर में चोरी करने के मकसद से घुसे चोरों को उस समय खाली हाथ भागना पड़ा जब मंदिर के पुजारी को चोरी की आहट लग गयी और वह चोरों से भिड़ गये। हालांकि चोर पकड़े नहीं जा सके, लेकिन चोरी का सामान मंदिर में ही बोर में बरामद हो गया। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने पुजारी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार देर रात चोरों ने मंदिर में धावा बोलकर भगवान के जेवर और दानपत्र में रखे रूपये चुराने की कोशिश की। चोरों ने भगवान के सारे जेवर उतारकर बोरे में भर लिए और दान पात्र तोड़ने लगे, तभी आवाज़ सुनकर पुजारी अवधेश द्विवेदी की नींद खुल गयी।

इसे भी पढ़ें:-बस्ती: अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए ATM में चोरी करने वाला गिरोह गिरफ्तार

चोरों को देखकर उन्होंने शोर मचाया और चोरों से भिड़ गये। शोर शराबा सुनकर पुजारी के बेटे अश्वनी की भी आंख खुल गयी और वह भी चोरों को दबोचने में लग गया। खुद को घिरता देख चोर सामान छोड़कर मौके से भाग खड़े हुए। इसके बाद अवधेश ने चोरी की सूचना महंत छोटे दास व पुजारी ओमप्रकाश शास्त्री को दी, साथ ही पुलिस कंट्रोल रूम में फोन किया। हालंकि यह पूरी घटना मंदिर में लगे सीसीटीवी में कैद हो गयी।

पहले भी हो चुका है चोरी का प्रयास
सूचना पर पहुंचे अतरिक्त निरीक्षक अपराध फूलचंद ने बताया कि राजाजीपुरम के ई-ब्लाक में स्थित हनुमान मंदिर परिसर में बने कमरे में पुजारी अवधेश अपने पुत्र अश्वनी के साथ रहते थे। उन्होंने बताया कि जल संस्थान की तरफ मंदिर की दीवार टूटी है और बुधवार की रात करीब दो बजे चोरों ने मंदिर में प्रवेश के लिए इसी रास्ते का इस्तेमाल किया है। चोरों ने राम दरबार, हनुमान मंदिर, शिवमंदिर में स्थापित प्रतिमाओं के आभूषण उतार कर बोर में भर लिए और दान पात्रों को तोड़ने लगे। इस बीच पुजारी की आंख खुल गयी और मंदिर में चोरी होने से बच गयी। इसके पहले भी मंदिर में चोरी का प्रयास किया जा चुका है।

इसे भी पढ़ें:-बस्ती: टोल टैक्स घोटाले में कंपनी से करोड़ वसूलने की तैयारी, एडीएम ने कसा शिकंजा