जब बिना मास्क के घूम रहे बीजेपी विधायक को पुलिस ने रोका तो देने लगे ‘अनोखा ज्ञान’

222
bihar mla

सीतामढ़ी। देश में विकराल रूप ले चुके कोरोना वायरस को लेकर जहां एक तरफ केंद्र और राज्य सरकारें चिंतित हैं और बिना मास्क के घर से न निकलने का आदेश दे रही हैं, वहीं मंत्री और विधायक तक इस सरकारी आदेश का पालन करने से कतरा रहे हैं। मास्क लगाने और कोरोना गाइड लाइन के पालन का यह सरकारी आदेश हर आम और खास लोगों पर लागू होता है लेकिन अफ़सोस की बात यह है कि खुद सरकार के मंत्री और विधायक उसके इस आदेश का पालन नहीं कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:-बीजेपी विधायक ने विधानसभा में की आत्महत्या की कोशिश, सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

ऐसा ही एक वाकया बिहार में देखने को मिला जब सीतामढ़ी के बीजेपी विधायक मिथिलेश कुमार कोरोना गाइड लाइन की धज्जियां उड़ाते हुए बिना मास्क के सड़क पर सफर कर रहे थे। इस पर जब पुलिस ने उन्हें रोका तो वह उन्हें ही ज्ञान देने लगे। इस दौरान उन्होंने इस बात पर भी गौर नहीं किया कि वह एक जनप्रतिनिधि हैं और बहुत से लोग उन्हें फॉलो करते हैं। वहीं बिना मास्क के सफर कर रहे विधायक को जब पुलिस ने रोका तो वह भड़क गए और ज्ञान देने लगे।
उन्होंने पुलिस वालों को समझाना शुरू किया कि रोड पर मास्क की जांच नहीं की जानी चाहिए। इससे जाम लगने की समस्या होने लगती है।

अधिकारियों को कहने लगे भला बुरा

दरअसल बात यह है कि राज्य में बढ़ रहे कोरोना मामलों को देखते हुए सीतामढ़ी के डीएम के निर्देश पार बुधवार शाम सदर एसडीओ राकेश कुमार और सदर डीएसपी रमाकांत उपाध्याय की अगुवाई में डुमरा बीडीओ तथा नगर थाना के पुलिस अधिकारी बाबू वीर कुंवर सिंह चौक पर मास्क और वाहनों की चेकिंग कर रहे थे तभी नगर विधायक मिथिलेश कुमार सिंह अपने वाहन से उधर से गुजरे। इस पर पुलिस ने उन्हें रुकने का इशारा किया जो विधायक को नागवार गुजरा।पुलिस की ये हरकत उन्हें अपमानजनक महसूस हुई। गाड़ी के रुकते ही पुलिस उनसे कुछ कहती इससे पहले ही विधायक जी ही वाहन से तमतमाये उतरे और अधिकारियों पर अपनी धाक जमाते हुए उन्हें ही भला बुरा कहने लगे।

कैमरे में कैद हुई घटना

गुस्साएं विधायक जी ने तो यहां तक कह डाला, ” इस तरह की जांच से ही शहर में भीषण जाम की समस्या उत्पन्न होती है। पहले जाम हटाइये, फिर मास्क चेक कीजिए।” खास बात यह कि उस समय खुद विधायक जी भी मास्क नहीं लगाए थे। इस दौरान मौके पर कई मीडिया कर्मी भी मौजूद थे जिन्होंने इस पूरी घटना को कैमरे में कैद कर लिया। मीडिया कर्मियों को तस्वीरें लेते देख विधायक जी और भड़क गए और धमकी भरे अंदाज में कैमरा बंद करने की बात कहने लगे लेकिन तब तक उनकी यह हरकत कैमरे में कैद हो चुकी थी।

इसे भी पढ़ें:-सभी विधायकों को Apple का आईपैड खरीदने के निर्देश, सरकार करेगी भुगतान