भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस का तांडव, वीडियो देख कांप जाएगी आपकी रूह

61

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले सियासी सरगर्मी काफी बढ़ गई है। पश्चिम बंगाल जीतने के लिए भाजपा ने जहां पूरा जोर लगा दिया है, वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले भी तेज हो गए हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले केवल टीएमसी के समर्थक ही नहीं बल्कि बंगाल पुलिस भी कर रही है। भाजपा नेताओं की रैलियों में सुरक्षा देने की जगह बंगाल पुलिस भाजपा समर्थकों पर लाठियां बरसा रही है। वहीं पश्चिम बंगाल पुलिस का एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें बंगाल पुलिस भाजपा कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर गुंडों के तरीके से पीटती नजर आ रही है। पुलिस की इस पिटाई में कई महिला कार्यकर्ता घायल हो गई हैं। इस तरह की कार्रवाई से यह साफ हो रहा है कि ममता सरकार राज्य में दमनकारी नीति पर काम कर रही है।

इसे भी पढ़ें: मुजफ्फरनगर दंगे में सुरेश राणा और संगीत सोम सहित तीन नेताओं को मिली बड़ी राहत

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस के इस लाठीचार्ज का वीडियो साझा करते हुए लिखा है- खरदाह पुलिस स्टेशन विरोध दर्ज कराने गए भाजपा कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया। महिलाओं के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई देखें। एक महिला मुख्यमंत्री होते हुए राज्य में महिलाओं के साथ बंगाल पुलिस असंवेदनशील और अमानवीयता व्यवहार कर रही है। शर्म करो ममता जी, जनता माफ नहीं करेगी। पुलिस लाठीचार्ज का वीडियो उस समय का है जब भाजपा कार्यकर्ता घर-घर जाकर पार्टी का कार्यक्रम चला रहे थे। इसी बीच पुलिस ने हथियार रखने के जुर्म में भाजपा के एक सभासद को गिरफ्तार कर लिया। सभासद की गिरफ्तारी पर भाजपा कार्यकर्ता नाराजगी जता रहे थे, जिस पर पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज कर दिया। पुलिस का रुख कितना आक्रामक था, वह वीडियो देखकर साफ समझ में आ रहा है।

गौरतलब है पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले होने की बात आम हो गई है। यहां से आए दिन हिंसक झड़पों की खबरें आती रहती हैं। बुधवार को भी पश्चिम बंगाल के रामनगर में टीएमसी और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई थी, जिसमें कई लोग घायल हो गए थे। जानकारी के अनुसार कोंटाई जो शुभेंदु अधिकारी का गढ़ माना जाता है, यहां टीएमसी की रैली होने वाली थी। पुलिस के अनुसार रैली से पहले ही मेदिनीपुर जिले में रामनगर रोड स्थित टएमसी के कार्यालय के निकट से भाजपा कार्यकर्ताओं का एक जुलूस गुजर रहा था। इसी समय दोनों दलों के समर्थक आपस में भिड़ गए।

इसे भी पढ़ें: पालघर: साधुओं की पीट-पीटकर हत्या के मामले में हुई 19 और गिरफ्तारियां, हुआ बड़ा खुलासा