बीजेपी की रथ यात्रा पर ब्रेक लगा सकता है ममता प्रशासन, कैलाश विजयवर्गीय ने दिया ये जवाब

41

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में सभी दल लग चुके हैं। एक तरफ जहां ममता का सपना है कि, लगातार तीसरी बार राज्य की सीएम बनें। वहीं दूसरी बीजेपी की कोशिश है कि, राज्य में बहुमत हासिल कर पहली बार वो अपनी सरकार बनाए। इस समय राज्य में सियासत अपने उबाल पर है और फरवरी और मार्च में होने वाली बीजेपी की रथ यात्रा के लिए पार्टी काफी जोरो शोरो से तैयारी कर रही है। बीजेपी को इस बात की आशंका है कि, ममता सरकार उनकी रथ यात्रा को रोक सकती है। इसे देखते हुए पार्टी ने कोलकाता हाई कोर्ट में एक याचिका प्रस्तावित रथ यात्रा को लेकर दायर कर दी है।

इसे भी पढ़ें: बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को यूपी को सौंपने से पंजाब सरकार ने किया इंकार, कोर्ट में दी ये दलील

इस बात की भी चर्चा है कि, प्रशासन भी बीजेपी की रथ यात्रा को मंजूरी देने के मूड में नहीं है। बीजेपी सांसद बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय को भी इसे लेकर आशंका है लकिन उनका कहना है कि, प्रशासन रथ यात्रा को रोक नहीं सकता है। बीजेपी सांसद ने कहा है कि, कोर्ट ने रथ यात्रा पर स्थगन का कोई आदेश नहीं दिया है। यही वजह है कि, अब जिला प्रशासन इसे रोक नहीं सकता है। लोगों के बीच जाना विपक्ष के रूप में हमारा मौलिक अधिकार है। नड्डा जी 6 फरवरी रथ यात्रा का उद्घाटन करेंगे, जिसके बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 11 फरवरी को कूचबिहार से एक दूसरी यात्रा में शामिल होंगे।

चर्चा इस बात की है कि, बीजेपी की यात्रा को ममता सरकार शुरू होने नहीं देगी। प्रशासन कानून व्यवस्था का हवाला देकर जरूर इस पर रोक लगा देगा। इस यात्रा से पहले ममता सरकार के एक मंत्री ने कहा है कि, अपनी संस्कृति को हम बर्बाद नहीं होने देना चाहते हैं और प्रदेश में धर्मनिरपेक्षता को बनाए रखना चाहते हैं। गौरतलब है कि, बीजेपी की ये यात्रा 294 विधानसभा क्षेत्रों से होकर गुजरनी है।

इसे भी पढ़ें: खुलासा: भारत की छवि खराब करने के मकसद से खालिस्तानियों ने ग्रेटा को मुहैया कराई थी टूलकिट