तहसीलदार ने डर के मारे जलाये 20 लाख रुपए, जांच दल ने किया अरेस्ट

565
RAJSTHAN

राजस्थान। राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने बुधवार को एक लाख की रिश्वत लेते हुए पिंडवाडा के राजस्व निरीक्षक परबत सिंह को अरेस्ट किया। इस बारे में जानकारी देते हुए ब्यूरो के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि आरोपी परबत सिंह पूछताछ में यह स्वीकार किया कि यह रिश्वत वह पिंडवाडा के तहसीलदार कल्पेश कुमार जैन के लिए ले रहा था।

इसे भी पढ़ें:-लखनऊः CBI ने पासपोर्ट अधिकारी के घर पर मारा छापा, नकदी और करोड़ों के गहने बरामद

इस पर ब्यूरो की टीम तहसीलदार को गिरफ्तार करने उसके निवास पर पहुंची तो तहसीलदार ने ब्यूरो की टीम को देखते ही सबसे पहले अपने ने घर का दरवाजा बंद किया और भीतर करीब 15-20 लाख रुपये गैस के चूल्हे पर ही जलाने की कोशिश की।

अधिकारी ने बताया कि तहसीलदार को भी अरेस्ट कर लिया गया है। इस बारे में जानकारी देते हुए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया के रिश्वत लेने के आरोप में पकड़े तहसीलदार कल्पेश जैन ने पिंडवाडा में प्राकृतिक पैदावार आवंला छाल का ठेका दिलवाने के बदले में राजस्व निरीक्षक परबत सिंह के माध्यम से एक लाख रुपये रिश्वत मांगी थी।

एक लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

इसके बार राजस्व निरीक्षक परबत सिंह को परिवादी से एक लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ अरेस्ट किया गया है। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया की आरोपी राजस्व निरीक्षक ने जब पूछताछ में इस मामले में तहसील दार की संलिप्तता की बात स्वीकारी तो ब्यूरो की टीम उसे गिरफ्तार करने उसके घर पहुंची तो उसने अपने घर का दरवाजे बंद करके भीतर रखी करीब 15-20 लाख रुपये की राशि को गैस के चूल्हे पर जलाने की कोशिश की।

अन्य ठिकानों की तलाश जारी

जांच दल को घर में प्रवेश के लिए स्थानीय पुलिस की मदद लेनी पड़ी। इस दौरान तलाशी में तहसीलदार के घर से 50 लाख रूपये बरामद हुए। ब्यूरो की टीम आरोपी तहसीलदार कल्पेश कुमार जैन को गिरफ्तार कर लिया है और उसके अन्य ठिकानों की तलाश में जुट गयी है।

इसे भी पढ़ें:बड़ा फर्जीवाड़ा: प्रिंटिंग प्रेस पर एसटीएफ ने मारा छापा, करोड़ों की NCERT बुक बरामद, दर्जनों गिरफ्तार