समाज को शिक्षित करने का काम करे मीडिया : प्रो. रजनीश कुमार शुक्ल

29

नई दिल्ली। ”वर्तमान समय में जब समाज और परिवार संकट में हैं, तब मीडिया की जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ गई है। आज मीडिया को परिवार में संस्कार निर्माण एवं समाज को शिक्षित करने का काम करना चाहिये। मीडिया के माध्यम से समाज को और बेहतर बनाया जा सकता है।” यह विचार महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा के कुलपति प्रो. रजनीश कुमार शुक्ल ने रविवार को प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय एवं मूल्यानुगत मीडिया अभिक्रम समिति द्वारा आयोजित वेबिनार में व्यक्त किए। इस अवसर पर भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी, मूल्यानुगत मीडिया के संपादक प्रो. कमल दीक्षित, ब्रह्माकुमारी संस्था के मीडिया प्रभाग के अध्यक्ष राजयोग करूणा भाई एवं इंदौर प्रेस क्लब के अध्यक्ष अरविंद तिवारी भी विशेष तौर पर उपस्थित थे।

इसे भी पढ़ें: भीड़ देखकर गदगद हुए अमित शाह, बोले- दीदी के गुस्से का है प्रतीक

राजयोग शिक्षा एवं अनुसंधान प्रतिष्ठान के मीडिया प्रभाग के पूर्व अध्यक्ष एवं इंदौर ज़ोन के पूर्व क्षेत्रीय निदेशक राजयोगी ब्रह्माकुमार ओम प्रकाश ‘भाईजी’ के पंचम पुण्य स्मरण दिवस पर आयोजित वेबिनार में ‘मीडिया, समाज और मूल्यबोध’ विषय पर बोलते हुए प्रो. शुक्ल ने कहा कि समाज में व्याप्त बुराइयों को खत्म करने के लिए मीडिया को आगे आना होगा। उन्होंने मीडिया के क्षेत्र में योगदान के लिए ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के प्रयासों की सराहना भी की। आईआईएमसी के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने कहा कि मूल्यों की स्थापना के लिए आध्यात्मिक और शैक्षणिक संस्थाओं के साथ साथ परिवारों को भी आगे आना होगा। इस दिशा में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जैसे संगठन व्यक्तित्व निर्माण के कार्य को बेहतर ढंग से कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि श्रेष्ठ समाज के निर्माण से श्रेष्ठ राष्ट्र का निर्माण होगा। इसके लिए मीडिया और पूरे समाज को लोकमंगल की भावना से काम करना होगा।

इस अवसर पर मूल्यानुगत मीडिया के संपादक प्रो. कमल दीक्षित ने कहा कि आज मूल्यों का क्षरण हो रहा है और समाज धीरे-धीरे व्यक्ति केंद्रित होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि मीडिया समाज की सेवा के लिए है, लेकिन वर्तमान में मीडिया समर्थ व्यक्ति, बाजार और सत्ता के लिए काम करने लगा है। इस संदर्भ में आध्यात्म ही एकमात्र ऐसा उपाय है, जो इस सब को बदल सकता है। स्वर्गीय ओम प्रकाश ‘भाईजी’ को याद करते हुए इंदौर प्रेस क्लब के अध्यक्ष अरविंद तिवारी ने कहा कि उन्होंने इंदौर में इस तरह काम किया कि ब्रह्माकुमारी संस्था इंदौर शहर का अभिन्न हिस्सा बन गई। समारोह में राजयोगी आत्मप्रकाश भाई भी विशेष तौर पर मौजूद थे। कार्यक्रम में स्वागत भाषण राजयोगिनी हेमलता दीदी ने दिया। वेबिनार का संचालन डॉ. सोमनाथ वडनेरे ने किया और ब्रह्माकुमारी अनीता दीदी ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

इसे भी पढ़ें: अंधविश्वास या फिर विश्वासः कड़ाके की ठंड में भी जूता-चप्पल नहीं पहनते इस गांव के लोग