Thursday, January 20, 2022

भारत में Corona से दूसरी लहर जैसे बन सकते है हालात, UN की रिपोर्ट ने बढ़ाई चिंता

यूएन ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि, कोरोना वायरस (डेल्टा वेरिएंट) की दूसरी लहर में अप्रैल से जून के बीच 2.4 लाख लोगों की मौत संक्रमण की वजह से हुई। इसकी वजह से अर्थव्यवस्था में जो सुधार हो रहा था। वो प्रभावित हुआ। रिपोर्ट में चेतावनी देते हुए यूएन ने कहा है कि आने वाले दिनों में दोबरा वैसे हालात देश में पैदा हो सकते हैं।

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने संक्रमण को लेकर भारत के लिए चेतवानी जारी की है। यूएन ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि, कोरोना वायरस (डेल्टा वेरिएंट) की दूसरी लहर में अप्रैल से जून के बीच 2.4 लाख लोगों की मौत संक्रमण की वजह से हुई। इसकी वजह से अर्थव्यवस्था में जो सुधार हो रहा था। वो प्रभावित हुआ। रिपोर्ट में चेतावनी देते हुए यूएन ने कहा है कि आने वाले दिनों में दोबरा वैसे हालात देश में पैदा हो सकते हैं। यूएन की विश्व आर्थिक स्थिति और संभावनाएं (WESP) 2022 की रिपोर्ट के अनुसार, ओमीक्रॉन वेरिएंट की वजह से कोरोना की नई लहरें आ रही हैं, जिसका प्रभाव अर्थव्यवस्थाओं पर पड़ना तय है। डेल्टा वेरिएंट का भी जिक्र रिपोर्ट में किया गया है और बताया गया है कि, जानलेवा कोरोना लहर में अप्रैल से जून तक 2.4 लाख लोगों की मौत हुई।

इसे भी पढ़ें : UP Elections : मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे धर्म सिंह सैनी, बोले – ‘मेला होबे’

यूएन ने रिपोर्ट में कहा है कि, कोरोना को रोकने के लिए जब तक सभी तक वैक्सीन पहुंचने का वैश्विक नजरिया नहीं अपनाया जाएगा। तब तक महामारी का खतरा दुनिया पर बना रहेगा। इससे सभी देशों की अर्थव्यवस्था पर खतरा बना रहता है। इसकी वजह से सबसे ज्यादा परेशानी दक्षिण एशिया को आने वाले समय में उठानी पड़ सकती है। कोरोना टीकाकरण की धीमी रफ्तार से नए-नए वेरिएंट का खतरा बना रहेगा, जिससे नए मामलों में तेजी देखने को मिल रही है।

ओमिक्रॉन और कोरोना के मामलों में आया उछाल
भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में अब तक कोरोना वैक्सीन के 154 करोड़ से ज्यादा डोज लग चुके हैं। संक्रमण की दूसरी लहर ने भारत में तबाही मचा दी थी। इस दौरान देश में बड़ी संख्या में लोगों की मौत संक्रमण की वजह से हुई थी। देश की स्वास्थ्य बिलकुल चरमरा गई थी। इस बीच भारत में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है और लगातार नए केसों में उछाल देखने को मिल रहा है।

इसे भी पढ़ें : UP Election: BJP छोड़ रहे मंत्री-विधायकों ने बढ़ाई CM योगी की टेंशन, लगाए ये गंभीर आरोप

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -