शाहीन बाग में गोली चलाने वाले कपिल गुर्जर ने थामा भाजपा का दामन, विरोध होने पर पार्टी ने किया बाहर

31

नई दिल्ली। राजनीतिक सुचिता की चाहे जितनी बातें कर ली जाएं लेकिन सच यही है कि नेता और अपराधियों का चोली दामन का साथ है। यही वजह है कि कोई भी राजनीतिक दल ऐसा नहीं है, जिसमें अपराधी प्रवृत्ति के नेता शामिल न हों। इसे ऐसे भी समझा जा सकता है कि हमाम में सीी नंगे हैं। पार्टियों की नैतिकता की बात सिर्फ मंचों तक रहती है, बाकी सभी का उद्देश्य पार्टी को आगे बढ़ाते हुए चुनाव जीतना होता है। दिल्ली में पिछले वर्ष सीएए और एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन के दौरान गोली चलाने वाले कपिल गुर्जर ने आज भाजपा का दामन थाम लिया है। गुर्जर के भाजपा में शामिल होते ही आम आदमी पार्टी तिलमिला गई है। उसने इसको लेकर भाजपा और दिल्ली पुलिस पर सवाल खड़े किए हैं। वहीं खबर मिल रही है कि खुद को घिरता देख भाजपा ने कपिल गुर्जर से किनारा करते हुए पार्टी से बाहर का रास्ता भी दिखा दिया है।

इसे भी पढ़ें: सिद्धू की शॉल पर मचा बवाल, सिखों की नाराजगी के चलते मांगनी पड़ी माफी

कपिल गुर्जर के भाजपा में शामिल होते ही आप विधायक सौरव भारद्वाज ने ट्वीट के माध्यम से भाजपा पर कटाक्ष किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि पहले शाहीन बाग वालों ने भाजपा ज्वाइन की, फिर उन पर बंदूक चलाने वाले भाजपा में आ गए। पूरा इन हाउस प्रोडक्शन भाजपा का है। बता दें सीएए और एनआरसी के प्रदर्शनकारियों के बीच फायरिंग की घटना के बाद कपिल गुर्जर चर्चा में आ गए थे। आप नेताओं के साथ उनकी कई तस्वीरें भी वायरल हुई थीं।

कपिल गुर्जर के भाजपा में शामिल होने से आगे चलकर पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती थी। फिलहाल विपक्ष के बढ़ते हमले को देखते हुए भाजपा ने कपिल गुर्जर को पार्टी से बाहर कर दिया है। यह कदम उठाकर भाजपा ने न सिर्फ उठ रहे विवादों पर विराम लगा दिया है, बल्कि विपक्षी दलों को एक सीख भी दी है। फिलहाल खबर लिखे जाने तक भाजपा की तरफ से कपिल गुर्जर को पार्टी से बाहर किए जाने की पुष्टि नहीं हो पाई थी।

इसे भी पढ़ें: 104 नौकरशाहों ने सीएम योगी को लिखा पत्र, यूपी की राजनीति को लेकर कही यह बड़ी बात