गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे संजय राउत, बोले- किसानों के साथ है ठाकरे सरकार, बजट पर भी उठाए सवाल

32
sanjay raut

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर पिछले ६८ से धरना दे रहे किसानों को तमाम विपक्षी दलों का सपोर्ट मिल रहा है। वहीं, कुछ नेता किसानों को अपना समर्थन देने के लिए समय -समय पर धरना स्थल पर पहुंचते रहते हैं और आंदोलन में शामिल होते रहते हैं। इसी कड़ी में आज मंगलवार को शिवसेना सांसद संजय राउत भी गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे और किसान आंदोलन को खुला समर्थन देते हुए किसान नेता राकेश टिकैत से मुलाकात की।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा पास किये गए कृषि कानूनों के विरोध में तमाम किसान दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं। वहीं किसान नेता राकेश टिकैत के नेतृत्व में गाजीपुर बॉर्डर पर भी हजारों किसान जमा हैं। इस बीच मंगलवार को शिवसेना सांसद संजय राउत और अरविन्द सावंत गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे और राकेश टिकैत से मिले। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा- ‘हमारे शिवसेना के सभी सांसद यहां आए हैं। हमारी किसान नेता राकेश टिकैत से भी बात हो गयी है, हमें उन्हें जो संदेश देना था वह हमने उन्हें दे दिया है, शिवसेना पूरी ताकत के साथ किसानों ने साथ खड़ी है।’

सरकार को राजनीति नहीं करनी चाहिए

उन्होंने कहा ‘सरकार को किसानों के मुद्दे पर राजनीति नहीं करनी चाहिए, बल्कि उनसे बात करके उनकी समस्याओं का निपटारा करना चाहिए। बता दें कि इसके पहले शिवसेना के राज्यसभा सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने ट्वीट कर लिखा, ‘किसान आंदोलन जिंदाबाद। मैं आज आंदोलनरत किसानों से मिलने के लिए दोपहर एक बजे गाजीपुर बॉर्डर जाऊंगा। जय जवान, जय किसान।’ इस दौरान पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किये बजट को लेकर पर भी सवाल उठाये।

वोट बैंक की राजनीति का लगाया आरोप

उन्होंने कहा वित्त मंत्री ने बजट में उन कुछ राज्यों के लिए बड़े पैकेज की घोषणा की है जहां आगामी कुछ महीनों में चुनाव होने हैं। राउत ने कहा ‘क्या बजट का इस्तेमाल चुनाव जितने के लिए महज हथियार के रूप में करना उचित है। वहीं शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में कहा गया है कि उन राज्यों को अधिक धन आवंटित करना ‘घूस’ देने के समान है जहां आगामी कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। लेख में भाजपा पर चुनाव जीतने के लिए बजट के जरिये वोट बैंक किगंदी राजनीति का आरोप लगाया है।

इसे भी पढ़ें:-दिल्ली में सिंघु, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर और आसपास के इलाकों में इंटरनेट बंद, गृह मंत्रालय ने दिया आदेश