राज्यसभा में बवाल काटने वाले 8 सांसद हुए सस्पेंड, सभापति ने आत्मनिरीक्षण करने की दी नसीहत

24

नई दिल्‍ली। राजनीतिक पार्टियां व राजनेता अक्सर किसानों के हितों की बात करती रहती हैं। लेकिन जब बात किसानों के हित की आती है तो इन राजनेताओं को कितनी दिक्कत होती है इसका अंदाजा कल राज्यसभा में हुए हंगामे से लगाया जा सकता है।​ संसद में किसी मुद्दे स्वछंद बहस होना अलग बात है, हंगामा करना, मारपीट पर उतारू हो जाना न तो सांसदों के लिए सही है और न ही संसद के लिए। खैर कृषि बिलों पर राज्‍यसभा में जो कुछ भी हुआ, वह संसद की गरिमा के खिलाफ है। सभापति एम. वेंकैया नायडू इस घटना से काफी नाराज आ रहे हैं। उन्‍होंने सदन में हंगामा करने वाले आठ सदस्‍यों को एक हफ्ते के लिए निलंबित कर दिया है। सभापति नायडू ने आज सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कहा कि कल का दिन राज्‍यसभा के लिए सबसे बुरा दिन माना जा सकता है। क्योंकि कुछ सदस्‍य सदन की मर्यादा भूलकर सदन के वेल तक आ गए और डिप्‍टी चेयरमैन के साथ अभद्रता की गई। उन्‍हें अपना काम करने से रोकने का प्रयास किया गया। माननीयों का यह व्यवहार बेहद दुर्भाग्‍यपूर्ण और निंदनीय है। मेरी तरफ से सांसदों को सुझाव है, कृपया आप लोग थोड़ा आत्‍मनिरीक्षण कीजिए।

इसे भी पढ़ें: बड़ी खबर: मलबे में तब्दील हुई तीन मंजिला इमारत, 10 की मौत, पीएम मोदी जताया दुख

उन्‍होंने अविश्वास प्रस्ताव पर स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि उप सभापति के खिलाफ विपक्षी सांसदों की ओर से लाया गया अविश्‍वास प्रस्‍ताव नियमों के मुताबिक सही नहीं है। सभापति एम. वेंकैया नायडू की इस कार्रवाई के बाद भी सदन के अंदर में हंगामा जारी रहा। इसके बाद राज्‍यसभा को थोड़ी देर लिए स्‍थगित कर दिया गया।

इनको किया गया सस्‍पेंड

डेरेक ओ’ब्रायन

संजय सिंह

राजू सातव

केके रागेश

रिपुण बोरा

डोला सेन

सैयद नजीर हुसैन

एलमाराम करीम

कल हुआ था जमकर हंगामा

गौरतलब है कि राज्यसभा में कल यानी रविवार को भारी हंगामा हुआ था। सरकार जब कृषि विधेयकों को पारित की कोशिश कर रही थी, तो कई विपक्षी सांसदों सदन की मर्यादा तार—तार करते हुए वेल में आकर नारेबाजी की। इतना ही नहीं उप सभापति के पास पहुंचकर दस्‍तावेज फाड़ दिए। इस दौरान उप सभापति हरिवंश ने इन सांसदों को कोरोना वायरस की याद दिलाते रहे लेकिन हंगामा काट रहे सांसदों ने उनकी एक न सुनी। बाद में हंगामा इतना बढ़ गया कि मार्शल को भी बुलाना पड़ा। हंगामा इतना बढ़ गया कि सदन की कार्यवाही को स्‍थगित करना पड़ गया।

इसे भी पढ़ें: चीन से तनाव के बीच लद्दाख में भारतीय सेना के राफेल और मिराज ने भरी उड़ान