तिरंगे का अपमान देखकर आहत हुआ देश, जानें कोरोना की वैक्सीन पर क्या बोले पीएम मोदी

98

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ‘मन की बात’ कार्यक्रम के माध्यम से देशवासियों को संबोधित करते हुए हाल ही में किसान आंदोलन की आड़ में दिल्ली में हुई हिंसा का जिक्र किया। प्रधानमंत्री का मन की बात का कार्यक्रम ऐसे वक्त में हुआ है, जब मात्र एक दिन बाद संसद में देश का बजट पेश किया जाना है, वहीं दूसरी तरफ नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का अपने आंदोलन चरम पर है। मन की बात मासिक रेडियो कार्यक्रम की यह 73वीं कड़ी है। यह कार्यक्रम दूरदर्शन और आकाशवाणी नेटवर्क पर प्रसारित किया गया है।

इसे भी पढ़ें: ओवैसी ने कांग्रेस को बताया बैंड-बाजा’ पार्टी, कहा- गांधी को श्रद्धांजलि देने वाले करते हैं सावरकर की पूजा

मन की बात कार्यक्रम के जरिए राष्ट्र को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि दिल्ली में 26 जनवरी को तिरंगे का अपमान देख देश काफी दुखी हुआ। ऐसे में हमें आने वाले समय को नई आशा और नवीनता से भरने की दिशा में काम करना होगा। हमने बीते वर्ष असाधारण संयम और साहस का परिचय दिखाया है। इस वर्ष भी हमें कड़ी मेहनत करके अपने संकल्पों को साकार करना है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष की शुरुआत के साथ ही कोरोना के खिलाफ जारी हमारी लड़ाई को लगभग एक वर्ष पूरे हो गए। कोरोना के खिलाफ जैसे भारत की लड़ाई एक उदाहरण बनी है, उसी तरह अब हमारा वैक्सीनेशन प्रोग्राम भी दुनिया के लिए एक मिसाल बन रहा है। भारत आज दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम चला रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत ने सिर्फ 15 दिन में अपने 30 लाख से ज्यादा कोरोना वॉरियर का टीकाकरण कर चुका है जबकि अमेरिका जैसे समृद्ध देश को इस लक्ष्य को पूरा करने में 18 दिन लग गए थे जबकि ब्रिटेन को 36 दिन लगे। प्रधानमंत्री ने कहा, मैं सभी देशवासियों को और खासकर के युवा साथियों से आह्वान करता हूं कि वह देश के स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में लिखें। अपने क्षेत्र के स्वतंत्रता संग्राम के दौर की वीरता की गाथाओं के बारे में कुछ न कुछ लिखें। इस बार जब देश अपनी आज़ादी के 75 वर्ष मनायेगा तो आपका लेखन आज़ादी के नायकों के प्रति उत्तम श्रद्धांजलि होगी।

इसे भी पढ़ें: अपने इस बयान पर नाराज हुए पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, बीच में ही छोड़ा इंटरव्यू