पोस्टरवार के जरिए लालू परिवार पर कड़ा प्रहार, लिखा— ‘एक ऐसा परिवार, जो बिहार पर भार’

22

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव का सुरूर चढ़ने लगा है। कोरोना संकट के चलते जहां घर—घर पहुंचकर जन संपर्क करने में दिक्कत आ रही है, वहीं वर्चुअल रैलियों के माध्यम से नेता क्षेत्र में अपने पक्ष में माहौल बनाने में जुट गए हैं। चुनाव से पहले आरजेडी से जहां वरिष्ठ नेताओं का पलायन जारी है वहीं पटना के चौराहों पर लालू प्रसाद यादव के खिलाफ पोस्टर लगाए गए हैं। ऐसे पोस्टर पटना के कई चौराहों पर देखे जा रहे हैं। इस पोस्टर के माध्यम से लालू प्रसाद यादव के पूरे परिवार पर तीखा हमला बोला गया है। इस पोस्टर में लालू प्रसाद यादव को जेल की सलाखों के पीछे दिखाया गया है और सजायाफ्ता कैदी नंबर 3351 लिखा हुआ है।

इसे भी पढ़ें: बलिया में पुलिसकर्मी ने सिक्किम की युवती का किया अपहरण, जांच में जुटी पुलिस

इतना ही नहीं इसमें लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटो तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव और बेटी मीसा भारती के साथ उनकी पत्नी और बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी की तस्वीर भी लगी हुई है। पोस्टर पर श्लोगन लिखा है कि— ‘एक ऐसा परिवार जो बिहार पर भार।’ बता दें कि इस पोस्टर के माध्यम से यह बताने की कोशिश किया गया है कि बिहार में लालू प्रसाद का परिवार सबसे भ्रष्ट है। इस पोस्टर को किसने लगवाया है इस बारे में किसी को कोई जानकरी नहीं मिली है और न ही पोस्ट पर किसी नेता व पार्टी का नाम अंकित है। वहीं आरजेडी को संदेह है कि यह पोस्टर जेडीयू की तरफ से लगाया गया होगा। क्योंकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब लालू प्रसाद के खिलाफ इस तरह के पोस्टरवार किए गए हैं।

आरजेडी की तरफ से इस पोस्टर को लेकर प्रतिक्रिया भी दी गई है। आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि कुछ लोगों में सामने से वार करने की हिम्मत नहीं है इसलिए छिपकर पोस्टर के जरिए लालू यादव परिवार को बदनाम करने की नाकाम कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि बिहार की 12 करोड़ जनता को अच्छे से पता है कि लालू यादव यादव ने बिहार व यहां के लोगों के लिए क्या किया है। बिहार की जनता आरजेडी व लालू यादव परिवार के साथ खड़ी है।

इसे भी पढ़ें: अतीक अहमद के इस गुर्गे के घर पर चला बुलडोजर, खाक में मिला करोड़ों का बंगला