कांग्रेस के इस दावे से पार्टी में आया भूचाल, बिहार विधानसभा चुनाव से जुड़ा है ये पूरा मामला 

82

भले ही बिहार विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके हो, मगर इसकी तपिश अभी-भी जारी है। खासकर..बिहार चुनाव में कांग्रेस का जिस तरह का प्रदर्शन रहा है। उस पर चिंतन मंथन की जगह पार्टी के नेता आपस में ही उलझते नजर आ रहे हैं। अगर यह सिलसिला यूं ही जारी रहा तो अन्य चुनावी राज्यों में भी पार्टी के हाथ छूछे ही रह जाएंगे। वो इसलिए चूंकि बिहार चुनाव को लेकर जिस तरह का दावा बिहार कांग्रेस के नेता भऱत सिंह ने किया है। वो अब पार्टी में भूचाल की वजह बना हुआ है। उन्होंने कहा कि पार्टी के 11 विधायक एनडीए के संपर्क में बने हुए हैं। लिहाजा, वे कभी-भी एनडीए में शमिल हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि ये वही 11 विधायक हैं, जिन्होंने चुनाव के दौरान पैसे देकर टिकट हासिल किया था।  भरत सिंह केे इस दावे से यूं समझिए कि अब पार्टी में भूचाल आ चुका है। सियासी कश्मकश  अब अपने परवान पर है। अब इस दावे का आगे क्या नतीजा निकलता है। यह तो फिलहाल आने वाला वक्त ही तय करेगा। ये भी पढ़े –अब कांग्रेस नेता शशि थरूर से भिड़ीं कंगना, कहा- हमारे प्यार को पैसों से मत तौलिये

मगर इससे पहले हम आपको बताते चले कि भरत सिंह ने अपने  द्वारा किए दावों में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा का भी जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी छोेड़ने वालों में मदन मोहन झा भी शामिल हैं।  इतना ही नहीं.. भरत सिंह के वक्तव्यों का सिलसिला यहीं थोड़ी न खत्म हुआ बल्कि  उन्होंने तो अपनी पार्टी को कांग्रेस तक को  राजद से हमेशा-हमेशा के लिए रिश्ते तोड़ने की हिदायत दे डाली।

पार्टी में जारी फेरबदल का सिलसिला 
वहीं बिहार कांग्रेस इकाई में फेरबदल का सिलसिला भी जारी है।  इस बीच बिहार  कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने पार्टी से इस्तीफा देने का मन बना लिया है। जिस पर सोनिया  गांधी ने भी अंतिम मुहर दे दी है। अब आगे से पार्टी की स्थिति पर क्या कुछ फैसला लिया जाता है। यह तो फिलहाल आने वाला वक्त ही बताएगा। ये भी पढ़े –दिया जलाने से नहीं बल्कि इन उपायों से हारेगा कोरोना : राहुल