इस मसले को लेकर मोदी सरकार पर बरसे ओवैसी, उठाए बेहद संजीदा सवाल, जानें पूरा माजरा

77

हिंदुस्तान की सियासत में बेशुमार ऐसे मसले हैं, जिन्हें लेकर कभी मुखालफतों का दौर जारी रहता है, तो कभी समर्थनों का दौर, लेकिन इस दौर में जो किरदार सियासी गलियारों में छाए रहतें हैं, उन पर हमारा ध्यान अनायास ही आकृष्ट हो जाता है। आज हम आपको अपनी इस खास रिपोर्ट  में हिदुस्तान के एक ऐसे ही सियासी किरदार के बारे में बताने जा रहे हैं, जो  कि एक बार फिर  केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं। उन्होंने मोदी सरकार की मंशा पर तक सवाल उठा दिए हैं।  सियासत के इस अलहदा किरदार का नाम असदुद्दीन ओवैसी हैं। ये भी पढ़े :ओवैसी और राजभर की मुलाकात से यूपी में बढ़ी सियासी गर्मी, छोटे दलों को साथ लाने की तैयारी

यह बात तो आइने की तरह साफ है कि मोदी सरकार और ओवैसी की कभी नहीं बनती। मोदी सरकार की आलोचना करना ओवैसी का सियासी पेशा है। अब इसी कड़ी में उन्होंने कृषि कानूनों के साथ बिजली बिल के कानूनों में संशोधन को लेकर केंद्र सरकार  की आलोचना की है।  उन्होंने केंद्र को ऐसा न करने की हिदायत दे डाली है। बताते चले कि मौजूदा समय  में किसान कृषि कानून के साथ-साथ बिजली बिल के कानून में हो रहे संशोधन का विरोध कर रहे हैं।  दरअसल, किसानों को इस बात का खौफ है कि अगर कानून में संशोधन हुआ तो फिर बिजली बिल पर मिलने वाली सब्सिडी खत्म हो जाएगी।

लिहाजा… इस मसले को उछालते हुए ओवैसी ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है।  उन्होंने दो ट्वीट किए हैं। अपने पहले ट्वीट में उन्होेंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह सरकार जो कहती है, सच उसके विपरीत होता है। बिजली बिल के जरिये क्रॉस सब्सिडी से दूर करने का प्रस्ताव है। कई राज्य किसानों को मुफ्त बिजली दे रहे हैं, यह बिल इसे बदलना चाहता है और किसानों को बिजली  के लिए अधिक भुगतान करवाना चाहता है।”

उधऱ , ओवैसी ने अपने दूसरे में ट्वीट में कहा कि “मौजूदा वक्त में गरीब परिवार रियायती दरों पर भुगतान कर रहे हैं और इसकी लागत की वसूली औद्योगिक/वाणिज्यिक उपयोक्ताओं से की जा रही है। अब बीजेपी चाहती है कि किसान, गरीब लोग और अन्य घरेलू उपयोक्ता भी बड़े कारोबारियों की तरह ही भुगतान करें।”  गौरतलब है कि वर्तमान में किसान कृषि कानूनों को लेकर विरोध कर रहे हैं तो वहीं अब किसान बिजली बिल कानूनों के संशोधन का भी विरोध कर रहे हैं। ये भी पढ़े :ओवैसी ने खुद को बताया लैला, कहा- मुझे मुद्दा बनाकर लोग वोट पाना चाहते हैं