गुरुद्वारा पहुँच कर पीएम मोदी ने सर्वोच्च बलिदान के लिए तेगबहादुर को दी श्रद्धांजलि, कयासबाजी तेज

75

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के विरोध में जारी प्रदर्शनों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक तय कार्यक्रम के तहत दिल्ली में गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब का दौरा किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने सर्वोच्च बलिदान के लिए गुरु तेग बहादुर को श्रद्धांजलि अर्पित की। गौरतलब है कि कृषि कानूनों के विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान भी दिल्ली की सीमाओं पर आज यानी 20 दिसंबर को श्रद्धांजलि दिवस का आयोजन कर रहे हैं। नए कृषि कानूनों के विरोध में जारी प्रदर्शनों के बीच जान गंवाने वालों की याद में किसान देशभर में ‘श्रद्धांजलि दिवस’ के रूप में मनाएंगे। इस दौरान किसानों की तरफ से प्रार्थना सभाओं का भी आयोजन किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच में खर्च हुए 5 करोड़, नतीजा कुछ भी नहीं

ज्ञात हो कि राजस्थान, गुजरात, हरियाणा और देश के अन्य हिस्सों से आये किसान हरियाणा-राजस्थान बॉर्डर पर बीते दिनों से डटे हुए हैं। गत सप्ताह रेवाड़ी पुलिस ने इन्हें दिल्ली की तरफ आगे बढ़ने से रोक दिया था। साथ ही अन्य हजारों किसानों को भी दिल्ली की सीमा में घुसने से रोका गया है। राजस्थान के अलवर में शाहजहांपुर के पास जयसिंहपुरा-खेड़ा गांव में पत्रकारों से वार्ता के दौरान एक किसान नेता ने कहा, ‘कड़ाके की ठंड के बावजूद लाखों किसान दिल्ली की सड़कों पर डटे हैं।

बताते चलें कि नए कृषि कानूनों पर किसान और सरकार अब आमने-सामने की मुद्रा में आ गए हैं। एक तरफ किसान नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े हैं, तो दूसरी तरफ सरकार को भी इसमें संशोधन के सिवाय अन्य कोई मांग स्वीकार नहीं है। हालाँकि सरकार बार बार किसानों को भरोसा दिला रही है कि नए कृषि कानूनों से किसी भी किसान का कोई नुकसान नहीं है, बल्कि इससे किसानों को अपने उत्पाद उचित मूल्य पर बेचने कि आज़ादी मिली है।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने NSA चीफ अजीत डोभाल के बेटे विवेक से मांगी माफी, जानें क्या था मामला