कोरोना काल में छप्पर फाड़ कमाई के बाद एशिया का सबसे अमीर कारोबारी बना ये शख्स, मुकेश अंबानी को छोड़ा पीछे

21

नई दिल्ली। एशिया के सबसे अमीर बिजनेसमैन मुकेश अंबनी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) वर्ष 2020 में यानी कोरोना काल में भी 47 हज़ार से ज्यादा धन की कमाई की है। लेकिन उसके बाद भी मुकेश अब एशिया में सबसे अमीर बिजनेसमैन नहीं रहे हैं। उन्हें चीन के उद्योगपति झोंग शानशान ने पछाड़ दिया है। उन्हें चीन का वाटर किंग भी कहा जाता है। उद्योगपति झोंग शानशान की संपत्ति में इस वर्ष बड़ा उछाल हुआ है। उनकी संपत्ति 70.9 अरब डॉलर बढ़कर 77.8 अरब डॉलर हो गई है। झोंग ने एशिया में अगर मुकेश अंबानी को पछाड़ है तो वहीं उन्होंने चीन के सबसे अमीर बिजनेसमैन अलीबाबा के जैक मा को भी छोड़ दिया है।

इसे भी पढ़ें: वैक्सीन विवाद: रजा अकादमी ने जारी किया फतवा, वैक्सीन में सूअर की चर्बी होने का जताया शक

झोंग शानशान बोतलबंद पानी और अब कोरोना संक्रमण की वैक्सीन बनाने में भी लगे हुए है। इससे पहले झोंग शानशान के बारे में इतनी चर्चा कभी नहीं हुई। इसकी बड़ी वजह उनका निजी अरबपति होना है। उन्होंने अपने जीवन में पत्रकारिता भी की है। इसके आलावा उन्होंने वो स्वास्थ्य सेवा और मशरूम की खेती भी है। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के अनुसार, वर्ष 2020 में झोंग शानशान की संपत्ति 77.8 अरब डॉलर हो गई है। इस वर्ष जहां कोरोना संक्रमण की वजह से पूरी दुनिया के आर्थिक स्थिति ख़राब हुई है। वहीं झोंग शानशान की सम्पत्ति में बड़ा उछाल देखने को मिला है।

यही वजह रही है कि, उन्होंने मुकेश अंबानी को अमीरी के मामले में इस वर्ष पीछे छोड़ दिया है। झोंग शानशान की उम्र 66 है, उन्हें चीन में लोन वुल्फ के तौर पर भी जाना जाता है।वर्ष 2020 में उनकी संपत्ति में बढ़ोत्तरी की वजह है कि, उन्होंने बीजिंग वेन्टाई बायोलॉजिकल फार्मेसी एंटरप्राइज कंपनी से वैक्सीन विकसित की। वहीं हांगकांग में उनकी बोतलबंद पानी बनाने वाली नोंगफू स्प्रिंग कंपनी सबसे ज्यादा लोकप्रिय हो गई। जिसकी वजह से ही उनकी संपत्ति में बेहद बढ़ोत्तरी हुई है।

इसे भी पढ़ें: चीन की बनी कोरोना वैक्सीन पर दुनिया को भरोसा नहीं, पाकिस्तान में भी लोग नहीं कर पा रहे हैं विश्वास