स्वास्थ्य मंत्रालय ने पल्स पोलियो कार्यक्रम को किया स्थगित, जानें क्या है बड़ी वजह

17

नई दिल्ली। राष्ट्रीय पल्स पोलियो मिशन को स्वास्थ्य मंत्रालय ने अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया है। मंत्रालय की तरफ से जारी एक आदेश में कहा गया है कि देशभर में 16 जनवरी से कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है। अप्रत्याशित परिस्थितियों के चलते पल्स पोलियो अभियान को स्थगित करने का फैसला लिया गया है। हालांकि आदेश में पोलियो टीकाकरण को रद करने का स्पष्ट कारण नहीं बताया गया है। वहीं यह भी बात सामने आ रही है कि राज्यों को भी पोलियो कार्यक्रम के रद किए जाने का अभी कोई आदेश नहीं मिला है। बता दें कि कोरोना टीकाकरण के एक दिन बाद 17 जनवरी को पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान की शुरुआत होनी थी।

इसे भी पढ़ें: यूपी में वैक्सीनेशन से पहले सामने आई बड़ी धांधली, टीकाकरण की पहली लिस्ट में मृतकों के भी नाम शामिल

गौरतलब है कि देश में 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण के पहले फेज की शुरुआत होने जा रही है। पहले फेज में तीन करोड़ स्वास्थ्य कर्मचारियों और फ्रंट लान वर्कर्स को कोरोना की वैक्सीन दी जानी है। ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि इस दौरान दूसरी बीमारियों के लिए सामान्य रूप से चलने वाला टीकाकरण कार्यक्रम प्रभावित न होने पाए। बता दें कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत होने वाला पोलियो कार्यक्रम बड़ा अभियान है।

यह हर वर्ष 17 जनवरी से शुरू होता है, जिसे राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस के रूप में भी जाना जाता है। इसे दिन 0 से 5 साल तक के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जाती है। जो उन्हें पोलियो वायरस से बचाती है। भारत में पोलियो भी अपने आखिरी चरण में हैं। यहां वर्ष 2011 में आखिरी मामला सामने आया था। लेकिन इस महामारी के समूल नाश के लिए टीकाकरण अभियान अभी भी जारी है। फिलहाल इस बार कोरोना जैसी महामारी के टीकाकरण अभियान के चलते पोलियो टीकाकरण का अभियान स्थगित कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें: उद्धव सरकार के इस बड़े मंत्री पर लगा दुष्कर्म का आरोप