14 दिन की बात गलत, इतने दिनों तक रहता है कोरोना वायरस का संक्रमण

0
119780
corona

नई दिल्ली। कोरोना महामारी जितना घातक है, उससे भी भयावह है इससे जुड़ी भ्रामक खबरें। क्योंकि इसके खतरे से ज्यादा इसके दवा की भ्रामक खबरे ज्यादा प्रसारित की जा रही हैं। नतीजतन, संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इसी तरह कोरोना वायरस के संक्रमण और उसके इलाज की प्रक्रिया में लगने वाले समय को लेकर कई तरह की बातें हो रही हैं। कोरोना वायरस शुरुआती दौर में बताया गया कि इसके प्रमुख लक्षणों में सर्दी, खांसी, बुखार, छींक आने की समस्या देखी गई। जबकि स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी रिपोर्ट से पता चला कि भारत में इस वायरस से संक्रमित मरीजों में से 69 प्रतिशत मरीज बिना लक्षण वाले हैं। इसी बीच कोरोना वायरस टास्क फोर्स के एक सदस्य ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना वायरस का संक्रमण 14 दिनों तक ही नहीं बल्कि इससे ज्यादा दिनों तक वह शरीर में रह सकता है।

इसे भी पढ़ें: भारत में दहशत फैलाने के लिए चीन ले रहा अब इस आंतकी संगठन का सहारा, भेजा पैसा और हथियार

ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि जो लोग इलाज के बाद ठीक होकर घर जा रहे हैं उनसे आपको कितने दिनों तक दूर रहना है? यह जानकर आप कोरोना के संक्रमण में आने से बच सकते हैं। बता दें कि कोविड-19 से निपटने के लिए भारत के सभी राज्यों में विशेष टास्क फोर्स का गठन किया गया है। यही टीम कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों के इलाज और ठीक होने में लगने वाले समय के साथ-साथ विभिन्न पहलुओं पर कड़ी नजर रख रही है। ऐसे ही एक टास्क फोर्स का हिस्सा रहे एक सदस्य ने बताया है कि कोरोना वायरस संक्रमण को अपना साइकिल पूरा करने के लिए 14 दिनों का समय काफी कम है।

उन्होंने कहा कि इलाज के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित कुछ मरीज ऐसे भी मिले जिनमें 14 दिनों से भी अधिक समय तक वायरस के लक्ष्ण मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि शुरुआती चरण में यह मान लिया गया कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज 14 दिनों के बाद पूरी तरह से ठीक हो चुका होगा। जबकि कोरोना वायरस को अपना साइकिल प्रक्रिया पूरी करने में करीब 28 दिन लग सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: भारतीय रेलवे ने बनाया ये अनोखा रेकॉर्ड, इतिहास में पहली बार हुआ ऐसा