किसान पंचायत से पहले फूटा किसानों का गुस्सा, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

80

करनाल। हरियाणा के करनाल के कैमला गांव में किसान पंचायत होने से पहले यहां किसानों का गुस्सा भड़क गया है। इस पंचायत में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर शामिल होने वाले थे। लिहाजा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। बावजूद इसके बड़ी संख्या में किसानों का हुजूम मुख्यमंत्री के इस कार्यक्रम का विरोध करते हुए यहां जमा हो गए और हंगामा करने लगे। प्रदर्शनकारी किसानों को हटाने के पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। पानी की बौछार करने के साथ ही पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए आंसू गैस के गोले भी दागे। करीब आधे घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद प्रदर्शनकारी तो हट गए लेकिन यहां तनाव काफी बढ़ गया है। ऐसे में माना जा रहा है कि किसान पंचायत में मुख्यमंत्री के शामिल होने का कार्यक्रम रद्द हो सकता है। बता दें किसानों के प्रदर्शन का आज 46वां दिन है।

इसे भी पढ़ें: 10 दिन बाद भी नहीं बिका धान, तो किसान ने लगा दी आग, अधिकारियों के हाथ-पांव फूले

वहीं आज कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसानों का पक्ष लेते हुए ट्वीट किया है- अब भी वक्त है मोदी जी, अन्नदाता का साथ दो, पूंजीपति का साथ छोड़ो! साथ ही राहुल गांधी ने अप्रैल, 2015 में लोकसभा में दिए गए अपने भाषण का एक वीडियो भी साझा किया है। राहुल की तरफ से साझा किए गए वीडियो में वह कहते नजर आ रहे हैं कि हिंदुस्तान में किसानों की जमीन की जा कीमत है वो तेजी से बढ़ रही है। मोदी के जो कारपोरेट दोस्त हैं वह जमीन को चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार किसानों को कमजोर करने की कोशिश कर रही है। इस वीडियो में वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुझाव देते हुए बोल रहे हैं कि आपकी बड़े लोगों की सरकार है। लेकिन देश में 60 फीसदी किसान है, उनको राजनीतिक फायदा होगा, अगर वह अपनी साइड बदल दें।

साथ ही वह सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि आपने पूंजीपतियों से जो वादा किया है उससे हमें नुकसान है। आप समझते हैं कि पूंजीपतियों से देश चलता है तो यह गलत है, देश गरीब किसानों से चलता है। आप किसानों को चोट पहुंचा रहे हैं और आने वाले समय में किसान आपको चोट पहुंचाएंगे।

इसे भी पढ़ें: किसान आंदोलन को लेकर बोले राहुल, मोदी जी, पूंजीपति को छोड़, अन्नदाता का साथ दो