बंगाल में दिखा बंद का असर: लाठीचार्ज के विरोध में लेफ्ट कार्यकर्ताओं ने रोकी ट्रेन, कई रास्ते भी किये ब्लाक

34
LEFT WEST BENGAL

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीख अभी ऐलान तक नहीं हुआ,लेकिन यहां चुनावी सरगर्मी तेज हो चुकी है। सभी राजनीतिक दल यहां सक्रिय हो चुके हैं और जन समर्थन जुटाने में जुट गए हैं। इसी कड़ी में कल लेफ्ट के कार्यकर्ताओं ने ममता सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था, जिस पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया था। अब पुलिस की इस कार्रवाई के विरोध में लेफ्ट ने आज 12 घंटे के बंद का आह्वान किया है, जो कई जगह सफल होता दिख रहा है।

इसे भी पढ़ें:-11 फरवरी को पश्चिम बंगाल में गरजेंगे अमित शाह, मतुआ समुदाय को करेंगे संबोधित

गौरतलब है कि गुरुवार को पश्चिम बंगाल में लेफ्ट और यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता ने ममता सरकार की नीतियों के खिलाफ एवं रोजगार की मांग को लेकर पैदल मार्च निकाल रहे थे। मार्च कॉलेज स्ट्रीट से शुरू हुआ लेकिन जैसे ही वह एस्प्लेनेड क्षेत्र में एसएन बनर्जी रोड पर पहुंचा पुलिस ने उसे वहीं रोक दिया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने रास्ते में लगे बैरिकेड को तोड़ने कि कोशिश, तब पुलिस और प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं के बीच झड़प शुरू हो गयी।

दरअसल लेफ्ट कार्यकर्ता मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी के कार्यालय का घेराव करना चाहते थे। वह प्रदर्शन करते हुए उस तरफ बढ़ रहे थे, जब पुलिस ने उन्हें रोकना चाहा तब दोनों के बीच झड़प हो गयी।

हालात बिगड़ते देख पुलिस को लेफ्ट कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज करना पड़ा, उन पर पानी की बौछारें की। लेफ्ट नेताओं का दावा है कि पुलिस की इस कार्रवाई में कई कार्यकर्ता गंभीर रूप से जख्मी हुए है।

जताया पुलिसिया कार्रवाई पर विरोध

पुलिस की इस कार्रवाई के विरोध में बंगाल में लेफ्ट ने आज 12 घंटे का बंद बुलाया है। बंगाल बंद का कई जगहों पर असर देखने को मिल रहा है। आज पूरे बंगाल में सीपीआई (एम) और कांग्रेस कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। कार्यकर्ताओं ने कई रास्ते भी ब्लॉक कर दिए हैं। कई जगहों पर ट्रेन को रोकने का भी प्रयास किया गया है। बता दें, पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और लेफ्ट मिलकर चुनाव लड़ रही है।

इसे भी पढ़ें:-औवैसी ने पश्चिम बंगाल में दी दस्तक, अब्बास सिद्दीकी से मुलाकात कर जाना राज्य का माहौल