महाकुंभ पर छाया कोरोना का साया, अब 30 का नहीं इतने दिन का होगा आयोजन

231

नई दिल्ली। हरिद्वार में आयोजित होने वाले महाकुंभ को कोरोना संक्रमण की वजह से छोटा कर दिया गया है। अब ये आयोजन 28 अप्रैल तक होगा। इससे पहले महाकुंभ 30 अप्रैल तक होना था। महाकुंभ के कार्यक्रम में हुए इस बदलाव को लेकर केंद्र और राज्य सरकार द्वारा नए दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं। प्रशासन को साफ़ निर्देश दिए गए हैं कि, वो इन दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन कराए। हरिद्वार में होने वाले कुंभ मेले में 4 शाही स्नान घोषित हो चुके हैं, जिसमे एक स्नान महाशिवरात्रि 11 मार्च से शुरू होकर अमावस्या 12 अप्रैल, बैशाखी कुम्भ स्नान 14 अप्रैल और चैत्र पूर्णिमा 27 अप्रैल को खत्म होगा।

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार पेट्रोल पर 32.90, डीजल पर 31.80 रुपए प्रति लीटर वसूल रही है उत्पाद शुल्क, कांग्रेस ने साधा निशाना

गौरतलब है कि, हरिद्वार में होने वाले महा कुंभ के लिए प्रशासन द्वारा बड़ी तैयारियां की जा रही हैं। इस महा आयोजन में करोड़ों संत और श्रद्धालु आएंगे। धर्म नगरी को भव्य तरीके से सजाया जा रहा है। कोरोना काल में इतने बड़े आयोजन को करवाना आसान नहीं है। प्रशासन के लिए आयोजन का सफलतापूर्ण करना एक बड़ी चुनौती है। यही वजह है कि, संक्रमण की वजह से अब आयोजन छोटा कर दिया गया है। अब महा कुंभ 1 अप्रैल से 28 अप्रैल तक कर दिया गया है।

महाकुंभ की अधिसूचना फ़िलहाल अब तक जारी नहीं हुई है। खास बात यह है कि, आध्यात्मिक आयोजनों में अधिसूचना का कोई प्रभाव नहीं होता है, लेकिन अधिसूचना आने से प्रशासन को व्यवस्था करने में और आयोजन की तैयारियों में जरूर बड़ी मदद मिलती है। कोरोना की वजह से कुंभ की अवधि जरूर काम कर दी गई है। इसका प्रभाव देखने को जरूर मिलेगा। जहां पहले कुंभ चार माह तक होता था, वहां अब ये सिर्फ 28 दिनों का ही होगा।

इसे भी पढ़ें: खुद को बड़ा हनुमान भक्त बताने में जुटी बीजेपी और आप, नेताओं ने शुरू किया चालीसा का पाठ