अगली रणनीति को लेकर हुई किसानो की बैठक, जल्द करेंगे ये ऐलान

46
Farmer

किसान आंदोलन (Peasant movement) के पर किसानों की मांगे (Mange) नहीं पूरी होने पर वह एक के बाद एक आंदोलन करते ही जा रहे है। मांगे पूही नहीं होने की वजह से उन्होंने रेल रोको आंदोलन (Rail stop movement) भी शुरू किया। हाल ही में फरार आरोपी सिधाना ने एक वीडियों वायरल किया था जिसमें उसने किसानों के हक की बात कही थी। जिससे किसानों को कही हद तक सहयोग मिला हैं।

आगे की रणनीति के लिए किसान आंदोलन की शनिवार को कुंडली बॉर्डर पर पंजाब के 32 संगठनों की बैठक हुई। अब रविवार को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक होगी, जिसके बाद आंदोलन की आगे की रणनीति का ऐलान होगा। इधर, दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का धरना लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

इसे भी पढ़ें-16 घंटे की हुई वार्ता में डेपसांग, डेमचक आदि इलाकों को लेकर सहमति की संभावना

अगली रणनीति हुई तैयार

धरना पर बैठे किसान कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर एक और रणनीति की योजना बना रहे हैं। जिसका एलान जल्द ही कर सकते है। शनिवार को कुंडली बॉर्डर पर हुई बैठक मे यह विचार किया गया कि अब किस तरह से आंदोलन को चलाया जाए जिससे हम सरकार पर अपना दबाव बनाकर बातचीत का रास्ता खोल सके।

जींद के खटकड़ व बद्दोवाल टोल प्लाजा पर किसानों का धरना जारी है। वहीं रेवाड़ी के खेड़ा बॉर्डर पर किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए अलवर से किसानों बुलाया जा रहा है। इधर, पंजाब से ट्रेन से सैकड़ों किसान बहादुरगढ़ के टीकरी बॉर्डर पहुंचे।

किसान आंदोलन में बोले सुखबीर

किसान आदोलन में किसानों के हक में बोले अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी सुखबीर सारवान। उन्होंने कृषि कानून को लेकर जो कानून बने है उस पर सरकार से अनुरोध किया है। कबड्डी खिलाड़ी शनिवार को टिकरी बॉर्डर पर पहुंच कर किसानों के हक में बोले। उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार से किसानों के हित में तीनों कृषि कानून वापस लेने और न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी देने के लिए कानून बनाने की मांग की।

इसे भी पढ़ें-देश में तेजी से फ़ैल रहा कोरोना का नया स्ट्रेन, एम्स चीफ बोले- बेहद खतरनाक है