LAC पर चल रहे तनाव के बीच थल सेना प्रमुख जनरल नरवणे पहुंचे दक्षिण कोरिया, चीन की बढ़ी धड़कन

197

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में चीन से चल रहे तनाव के बीच थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे तीन दिन के दौरे पर दक्षिण कोरिया गए हैं। नरवणे की इस यात्रा से उम्मीद जताई जा रही है कि, दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग और सामरिक भागीदारी होगी। भारत की तरफ से फली बार कोई थलसेना प्रमुख दक्षिण कोरिया की यात्रा पर गया है। भारतीय सेना की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि, सेना प्रमुख जनरल नरवणे अगले तीन दिन की यात्रा पर दक्षिण कोरिया गए हैं। जहां वो रक्षा मंत्री, चैयरमैन, कोरियाई सेना प्रमुख, चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी और रक्षा खरीद प्रक्रिया से जुड़े मंत्री से मुलाकात करेंगे। जनरल नरवणे की इस यात्रा का उद्देश्य दोनों मित्र देशों के बीच रक्षा सहयोग को भविष्य में और ज्यादा बढ़ाना है।

इसे भी पढ़ें: देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, बोले— 25 और शहरों में मेट्रो चलाने का लक्ष्य

यात्रा के दौरान जनरल नरवणे कोरियाई सेना के एडवांस डिफेंस‌ डेवलपमेंट सेंटर और कॉम्बेट ट्रेनिंग सेंटर भी जाएंगे। चीन के साथ भारत के चल रहे तनाव के बीच सेना प्रमुख का ये दौरा बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि चीन के साथ दक्षिण कोरिया के रिश्ते भी सामान्य नहीं हैं। दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया बीच संबंध ठीक नहीं है और दोनों देशों के बीच युद्ध जैसा तनाव बना रहता है। वहीं चीन सनकी तानाशाह, किम जोंग का खुलकर समर्थन करता है।

यही वजह है कि, दक्षिण कोरिया और चीन के बीच भी रिश्ते ठीक नहीं हैं। इसके आलावा अमेरिका की सेना भी दक्षिण कोरिया में मौजूद है, जिससे चीन भी खुश नहीं रहता है। इन सबके बीच भारत के लिए ये दौरा इस वक़्त बेहद अहम है। इससे चीन पर के दबाव बनेगा। चीन और भारत के बीच पूर्वी लद्दाख में शुरू हुआ विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। बातचीत के कई दौर बीत जाने के बाद भी सीमा पर तनाव कम नहीं हो रहा है। इस बीच सेना प्रमुख ने मित्र देशों की यात्रा शुरू की है। जिसके बाद चीन के धड़कने बढ़ने लगी हैं।

इसे भी पढ़ें: घोर लापरवाही, माफिया डॉन छोटा राजन और मुन्ना बजरंगी के जारी हो गए डाक टिकट