दिल्ली पुलिस ने सिद्धू समेत आठ आरोपियों के खिलाफ घोषित किया एक-एक लाख का इनाम

100
red_fort_violence

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के विरोध में 26 जनवरी के दिन किसानों द्वारा निकली गयी ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा के आरोपियों को पकड़ने के दिन रात छपेमारी कर रही दिल्ली पुलिस ने अब इन पर इनाम एक-एक लाख रूपये का इनाम घोषित कर दिया है। वहीं, भाकियू नेता राकेश टिकैत ने किसान आंदोलन को और तेज करने का ऐलान किया है। वह बुधवार को हरियाणा के जींद ने होने वली महापंचायत के शामिल होंगे और आगे की रणनीति का ऐलान करेंगे।

इसे भी पढ़ें:-छह फरवरी को चक्का जाम करेंगे किसान, दिल्ली पुलिस इस तरह रोकेगी रास्ता

गौरतलब है कि कृषि कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस के दिन निकाली गयी ट्रैक्टर परेड में प्रदर्शनकारियों ने जमकर उपद्रव किया था। इस बीच लाल किले पर पहुंचे उपद्रवियों ने वहां भी खूब उत्पात मचाया था कर अपना एक झंडा वहां लहरा दिया था, जहां १५ अगस्त के दिन देश का तिरंगा फहराया जाता है। इस दौरान प्रदर्शनकारियों और दिल्ली पुलिस के बीच झड़प भी हुई थी, जिसमें ८० पुलिस कर्मी गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। अब दिल्ली पुलिस ने उन सभी आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है और उनकी गिरफ्तारी के लिए पंजाब में कई स्थानों पर छापेमारी कर रही है, लेकिन अभी तक यह लोग पुलिस की पकड़ में नहीं आये हैं। ऐसे में दिल्ली पुलिस ने दीप सिद्धू, जुगराज सिंह, गुरजंत सिंह, गुरजंत सिंह, जगबीर सिंह, बुटा सिंह, सुखदेव सिंह और इकबाल सिंह पर इनाम घोषित किया है।

अक्टूबर तक चलेगा आंदोलन

बता दें कि दिल्ली पुलिस की रडार पर जुगराज सिंह, पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू व पंजाब के गैंगस्टर लखवीर सिंह उर्फ लक्खा सिधाना भी हैं। दीप व लक्खा ने लाल किले पर प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व किया था, जबकि जुगराज सिंह ने खंभे पर चढ़कर झंडा फहराया गया है। इधर दिल्ली के सिंधु बॉर्डर पर आंदोलन का नेतृत्व कर रहे किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि यह आंदोलन अक्टूबर तक चलेगा। उन्होंने कहा कि वह बुधवार को कांडला ने होने वाली किसान महापंचायत में हिस्सा लेंगे, जिसके बाद आगे की रणनीति का एलान किया जायेगा। किसान महापंचायत में राकेश टिकैत के अलावा हरियाणा के 50 खाप पंचायतों के प्रतिनिधि भी शिरकत करेंगे।

इसे भी पढ़ें:-लाल किले पर झंडा लहराने वाले की तलाश में दिल्ली पुलिस कर रही छापेमारी, गुजरात से आई FSL टीम