देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, बोले— 25 और शहरों में मेट्रो चलाने का लक्ष्य

131

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश को बिना ड्राइवर के चलने वाली पहली मेट्रो की सौगात दी है। इस दौरान पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन पर देश की पहली चालक रहित मेट्रो को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसी के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) सेवा की भी शुरुआत की। मानव रहित मेट्रो के उद्घाटन कार्यक्रम में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें: पीएमओ के निर्देश पर सबसे पहले ‘सक्सेनाजी’ का लखनऊ में कटा चालान

मेट्रो उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज से करीब 3 साल पहले मुझे मजेंटा लाइन के उद्घाटन का अवसर मिला था। आज फिर इसी रुट पर देश की पहली ऑटोमेटिड मेट्रो का उद्घाटन करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। इससे यह साफ हो जाता है कि भारत काफी तेजी से स्मार्ट सिस्टम की तरफ आगे बढ़ रहा है। उन्होंने आगे कहा कि आज नेशनल कॉमन मॉबिलिटी कार्ड से भी मेट्रो जुड़ रही है। बीते वर्ष अहमदाबाद से इसकी शुरुआत हुई थी और आज इसका विस्तार दिल्ली मेट्रो की एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन तक हो रहा है।

इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्ष 2014 में सिर्फ 5 शहरों में मेट्रो रेल थी। आज देश के 18 शहरों में मेट्रो रेल की सेवा है। वर्ष 2025 तक हम इसे 25 से ज़्यादा शहरों तक विस्तार देने की तैयारी में हैं। वहीं वर्ष 2014 में देश में मात्र 248 किलोमीटर मेट्रो लाइन्स आपरेशनल थीं। आज यह करीब तीन गुना मतलब सात सौ किलोमीटर से अधिक है। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने प्रस्तावित दिल्ली-मेरठ आरआरटीएस के मॉडल पर भी चर्चा की। प्रधानमंत्री ने कहा, दिल्ली—मेरठ आरआरटीएस का यह शानदार मॉडल दिल्ली और मेरठ की दूरी को घटाकर एक घंटे से भी कम कर देगा। वहीं उन शहरों में जहां मेट्रो यात्रियों की संख्या कम है वहां मेट्रोलाइट वर्जन पर काम चल रहा है।

इसे भी पढ़ें: भारत ने चीनी नागरिकों की यात्रा पर लगाया प्रतिबंध, एयरलाइंस को दिए ये निर्देश