सिद्धू की शॉल पर मचा बवाल, सिखों की नाराजगी के चलते मांगनी पड़ी माफी

57

चंडीगढ़। कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू असल जिंदगी में भी कामेडी करते रहते हैं। शायद यही कारण है कि वह चर्चा में भी बने रहते हैं। लेकिन इस बार उन्होंने ऐसी कर दी जिससे उन्हीं के समाज के लोग उनसे नाराजगी जाहिर करने लगे। हालांकि सिखों का गुस्सा बढ़ता देख नवजोत सिंह सिद्धू ने मांफी मांग ली है। बताते चलें कि कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू किसानों के साथ धार्मिक प्रतीकों वाला शाल ओढ़कर संवाद कर रहे थे। उनकी इस हरकत पर सिख समाज ने नाराजगी जाहिर की थी। अकाल तख्त जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने सिद्धू के इस आचरण पर बढ़ रहे विवाद को देखते हुए उनसे माफी मांगने की सलाह दी थी। इसी पर सिद्धू ने कहा है कि अनजाने में उनसे यह गलती हो गई सिखों की भावनाओं को आहत करने के लिए वह माफी मांगते हैं।

इसे भी पढ़ें: 104 नौकरशाहों ने सीएम योगी को लिखा पत्र, यूपी की राजनीति को लेकर कही यह बड़ी बात

नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट किया कि श्री अकाल तख्त साहिब सर्वोच्च हैं। अनजाने में अगर मैंने किसी भी सिख की भावना को आहत किया है तो मैं उसके लिए मांफी मांगता हूं। समाज के लाखों लोग अपनी पगड़ी और कपड़ों पर सिख धर्म के प्रतीकों को धारण करते हैं। यहां तक कि लोग गर्व से टैटू भी बनवाते हैं। एक सिख के नाते मैंने भी बिना किसी गलत नीयत के अनजाने में प्रतीकों वाली शॉल ओढ़ ली। बताते चलें कि सिखों की सर्वोच्च धार्मिक संस्था के जत्थेदार ज्ञानी ने नवजोत सिंह सिद्धू के इस आचरण को बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बताया था। उन्होंने कहा था कि सिद्धू को अपनी इस हरकत के लिए तत्काल माफी मांगनी चाहिए।

गौरतलब है कि अमृतसर पूर्व से विधायक नवजोत सिंह सिद्धू ने एक शॉल पहनी थी, जिसमें सिख समाज के धार्मिक प्रतीकों की कढ़ाई की गई थी। बीते दिनों उन्होंने अपने यू-ट्यूब चैनल जीतेगा पंजाब पर एक वीडियो डाला था। इस वीडियो में वह जालंधर के एक गांव में कुछ किसानों के बीच बैठक में संवाद कर रहे हैं, जिसमें वह प्रतीक चिन्हों वाली शॉल ओढ़े नजर आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: शिवसेना-एनसीपी कांग्रेस को खत्म करने की रच रहे हैं साजिश, पार्टी नेता ने सोनिया को लिखा पत्र