चक्का जाम आज,दिल्ली की सुरक्षा में तैनात किए गए 50 हजार जवान, बंद हो सकती है मेट्रो सेवा

51
chakka jam

नई दिल्ली। 26 जनवरी को किसान ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा से सबक लेते हुए दिल्ली पुलिस ने आज किसानों के चक्का जाम को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। दिल्ली की सीमाओं पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। इसके साथ ही कई लेयर बैरिकेडिंग की गयी है। हालांकि किसानों ने दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तरखंड में चक्का जाम न करने का ऐलान किया है। किसानों के इस चक्का जाम प्रदर्शन को कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी पार्टियों का समर्थन प्राप्त है।

बता दें कि तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में देश भर के किसान दिल्ली की सीमाओं पर करीब ढाई महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी आंदोलन को धार देने के लिए किसानों ने आज दिल्ली में चक्का जाम का ऐलान किया था,लेकिन बाद में किसान नेताओं ने अपना फैसला बदलते हुए दिल्ली उत्तर प्रदेश और उत्तरखंड को छोड़कर देश के अन्य हिस्सों में चक्का जाम का ऐलान किया और कहा किसान
शांतिपूर्ण तरीके से तीन घंटे के लिए राष्ट्रीय एवं राज्य राजमार्गों को बाधित करेंगे। ‘चक्का जाम’ शनिवार को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक किये जाने का प्रस्ताव है।

इस बारे में किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा वैसे तो किसान उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में चक्का जाम नहीं करेंगे,लेकिन इन दोनों राज्यों के किसानों को कभी भी दिल्ली बुलाया जा सकता है। किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि छह फरवरी को होने वाले चक्का जाम का असर दिल्ली पर नहीं पड़ेगा,लेकिन दिल्ली पुलिस ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा को देखते हुए पूरी तरह से सतर्क है।

दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजमार्गों पर 40 हजार सुरक्षा बल तैनात किये है। इसमें स्थानीय पुलिस बल भी शामिल है, जो अपने क्षेत्रों की निगरानी करेंगे। वहीं दिल्ली के 12 मेट्रो स्टेशनों को अलर्ट पर रखा गया है। इस बारे में दिल्ली पुलिस के डीसीपी ने मेट्रो अधिकारियों के पत्र लिखकर कर शार्ट नोटिस पर राजीव चौक, केंद्रीय सचिवालय समेत इलाके के 12 मेट्रो स्टेशन बंद करने के लिए तैयार रहने को कहा है।

इसे भी पढ़ें:-छह फरवरी को होने वाले चक्का जाम को लेकर राकेश टिकैत ने किया यह बड़ा एलान, जानें क्या कहा