spot_img
Saturday, September 18, 2021

सावधान! सरकार की इस योजना का लाभ पड़ सकता है महंगा, आपकी एक गलती पहुंचा सकती है जेल

- Advertisement -
- Advertisement -

कोरोना संकट से लोगों को बचाने के लिए केंद्र सरकार कई योजनाओं का लाभ दे रही है पीएम सरकार देश को कई योजनाएं दे रहे हैं लेकिन देश में कुछ ऐसे लोग भी इन योजनाओं का लाभ ले रहे हैं जो इनके हकदार नहीं है सरकार इन फर्जी लाभार्थियों पर एक्शन लेने के लिए तैयार हो गई है अगर आप भी उन्हीं में एक हैं जरूर पढ़े खबर…

किसान के अकाउंट में जाती है धनराशि

पीएम किसान योजना के तहत एक सम्मान निधि से छोटे किसानों को मैं हजार रुपए सालाना की राशि दी जाती है सरकार द्वारा भेजी गई या राशि किसानों के अकाउंट में डायरेक्ट जाती है मुख्यमंत्री कृषि आर्शीवाद योजना का लाभ झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले में पूर्व की रघुवर सरकार ने शुरू किया था। इस योजना के तहत लगभग 90 हज़ार लाभुक निंबधित थे।

पीएम किसान योजना के विशेष प्रावधान

प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत केंद्र सरकार ने किसानों के खाते में ईद के अवसर पर इस योजना की आठवीं किस्त भेजी थी। देश के लगभग 9.5 करोड किसानों के खाते में दो दो हजार के हिसाब से 20 करोड रुपए भेजे गए थे। असल में पीएम किसान योजना में यह प्रावधान बनाया गया है कि जब कोई किसान पहली बार इस योजना का लाभ लेता है तो उसे दो किस्त की राशि एक साथ मिलती है। झारखंड में 2019 तक पीएम किसान समृद्धि योजना भी लागू थी। जिसमें पूर्वी सिंहभूम जिले के करीब 1 लाख किसान इस योजना से जुड़े थे।

सरकार ने दिए जांच के आदेश

किसान योजना के तहत हो रही डफली बाजी को लेकर सरकार ने सख्त एक्शन लिया है। सरकार अब ऐसे लोगों की शक्ति से जांच कर रही है। जो लोग पीएम किसान योजना के हकदार नहीं है। इसके बावजूद वह इस योजना का लाभ ले रहे हैं। लेकिन वह शायद यह भूल गए हैं कि आधार कार्ड में उनका नाम अटैच है और सभी के आधार उनके पैन कार्ड से लिंक किया गया है। इस तरह सरकार उनकी सालाना इनकम का पता लगा सकती है। झारखंड के पूर्वी सिंहभूम को छोड़ कई जिलों में ऐसे लोगों की पहचान की गई है। जो सक्षम होने के बावजूद इस योजना का लाभ ले रहे हैं। इन सभी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया जा रहा है।

इसे भी पढ़े-Third Wave: बच्चों में हो रही इन समस्याओं को ना करें अनदेखा, लापरवाही पड़ सकती है भारी

- Advertisement -
spot_img
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -